मधेसियों के विरोध बीच नेपाल में संविधान संशोधन बिल पास

नई दिल्ली (24 जनवरी): संयुक्त लोकतांत्रिक मधेसी मोर्चा ने विराट नगर में कहा है कि रणगेली और दायनिया में पुलिस फायरिंग में मारे गये सदस्यों का तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जायेगा जब तक उन्हें शहीद का दर्जा नहीं दिया जाता और पांच सदस्यीय मांगों को नहीं पूरा किया जाता।

उधर दूसरी ओर नेपाल संसद में पेश किये गये संविधान संशोधन विधेयक पर मधेसी मोर्चा ने खारिज़ कर दिया है। मोर्चा के नेताओं ने कहा है कि जब तक संविधान संशोधन में फेडरल बाउंड्रीज़ का जिक्र न किया जाये तब तक कोई भी संशोधन बेईमानी होगा। इससे पूर्व नेपाली संसद में पेश किये गये बिल के पक्ष में 461 वोट डाले गये।