आतंक पर अब नेपाल ने पाकिस्तान को सुनायी खरी-खरी

नई दिल्ली (3 नवंबर): नेपाल ने आतंकवाद के सभी स्वरूपों की निंदा करते हुए कहा है कि किसी देश को अपनी सरजमीं का इस्तेमाल दूसरे देश के खिलाफ नहीं होने देना चाहिए। नेपाल ने स्वीकार किया कि भारत-पाकिस्तान के तनाव दक्षेस समूह को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इंडिया हाउस में भारतीय राजदूत रंजीत राय द्वारा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में आयोजित समारोह में मीडिया से बातचीत में नेपाल के विदेश मंत्री प्रकाश शरण महत ने कहा कि नेपाल आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ है। वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय की तरफ से निंदा के बावजूद भारत में पाकिस्तान द्वारा आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिए जाने के बारे में एक प्रश्न का उत्तर दे रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘हम सभी तरह के आतंकवाद के खिलाफ हैं। कोई भी वजह हो, लेकिन आतंकवाद-आतंकवाद होता है। हम इसकी निंदा करते हैं और हम आतंकवाद के खिलाफ मिलकर काम करना चाहेंगे। किसी देश को अपनी सरजमीं का इस्तेमाल किसी दूसरे देश के खिलाफ नहीं होने देना चाहिए। इसे पूरी तरह हतोत्साहित किया जाना चाहिए और आतंकवाद फैलाने वालों को समाप्त करना चाहिए।’