पार्टी नेताओं की हत्या के विरोध में शिवसेना की रैली, अब तक 4 लोग गिरफ्तार

नई दिल्ली (08 अप्रैल): शनिवार को महाराष्ट्र के अहमदनगर में शिवसेना के शहर उप प्रमुख संजय कोतकर और सेना के कार्यकर्ता वसंत ठुबे की गोली मारकर और तेज हथियार से वार करके हत्या करने के मामले में राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक संग्राम जगताप सहित चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सेना पदाधिकारियों के हत्या के मामले में कोतवाली पुलिस थाना में करीबन 30 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

वहीं शिवसेना ने एमओएस होम दीपक केसरकर, दिवाकर रावते और रामदास कदम के नेतृत्व में अपने पदाधिकारी की हत्या के विरोध में एक रैली का आयोजन किया। अनिल राठौड़ ने कहा कि जब तक सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार नहीं किया जाता है तब तक अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। इसके अलावा भिंगार, केडगांव और अहमदनगर शहर में बंद का एलान किया गया है। 

पुलिस के मुताबिक यह घटना अहमदनगर के केडगांव के शाहनगर इलाके में शाम करीब 5.15 बजे हुई। शिवसेना नेता संजय कोटकर (35) और वसंत आनंद थूबे (40) पर मोटरसाइकिल सवारों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। हत्यारों को पहचानने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। वारदात के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने तफ्तीश के दौरान फोरेंसिक जांच के लिए सैंपल इकट्ठा किए, साथ ही अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया। इस दौरान हत्या से गुस्साए शिव सेना के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए और कई वाहनों को क्षति पहुंचाई। उनका कहना है कि प्रशासन की लापरवाही से यह हत्याएं हुईं हैं। पुलिस अभी तक किसी को पकड़ नहीं पाई है।

शहर उप प्रमुख संजय कोतकर के बेटे संग्राम संजय कोतकार (25) ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई थी। विधायक संग्राम जगताप, बालासाहब कोतकर, संदीप गुंजाल, सहित एक और व्यक्ति को अहमदनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सूत्रों के अनुसार राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक संग्राम जगताप, विधायक अरुण जगताप, भाजपा के विधायक शिवाजी कर्डिले, पूर्व मेयर संदीप कोतकर, भानूदास कोतकर के कहने पर षडयंत्र रचकर संजय कोतकर व वसंत ठुबे को गोली मारकर और हंसिया से वार करके हत्या करने की बात शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत अर्जी में कहा है। इसके अनुसार पुलिस ने 30 से अधिक लोगों के खिलाफ कोतवाली पुलिस थाना में मामला दर्ज किया है।