अब नहीं बच पाएंगे नक्सली, मोदी सरकार ने बनाया ये प्लान

नई दिल्ली (5 मई): केंद्र सरकार ने माओवादियों पर नकेल कसने के लिए एक बड़ा प्लान बनाया है। सरकार का मानना है कि गैर-कानूनी खनन, अफीम की खेती और फिरौती के जरिए माओवादी अपने लिए फंड इकट्ठा करते हैं। सरकार अब इस फंडिंग को रोकने के सभी तरीकों को लागू कर सकती है।


सरकार को पता चला है कि पिछले कुछ सालों में तीन राज्यों में माओवाद प्रभावित इलाकों से 3.72 लाख अवैध खनन के मामले सामने आ चुके हैं। इसके साथ ही, विस्फोटकों की चोरी की घटनाओं पर भी सरकार काफी चिंतित है।


विस्फोटकों और पेट्रोलियम पदार्थों की छिट-पुट चोरियां भी बड़े हमलों में सहायक हो सकती हैं। इसलिए राज्यों के विभिन्न विभागों से कहा है कि इस तरह की चोरियों पर लगाम लगाने का विशेष प्रयास करें और जहां भी विस्फोटकों का इस्तेमाल किया जाता है, वहां निगरानी और सख्त करें।


सरकार की नजर छत्तीसगढ़, झारखंड और तेलंगाना के उन इलाकों पर भी है जहां गैर-कानूनी तौर पर अफीम की खेती की जाती है। माओवादी ड्रग नेटवर्क के जरिए भी पैसा उगा रहे हैं। माओवादियों की कमर तोड़ने के लिए उनकी फंडिंग पर रोक लगाने के लिए सभी संभव उपाय किए जाएंगे ताकि आगे सुकमा जैसी घटनाएं न हों।