पनामा केस में नवाज शरीफ बढ़ी मुश्किलें, अब जांच एजेंसी के सामने होंगे पेश

इस्लामाबाद (12 जून): भारत के खिलाफ नापाक मंसूबे रखने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। एक तरफ जहां पाक सेना और खुफिया एजेंसी लगातार नवाज शरीफ के सत्ता से हटाने की जुगत में जुटी है वहीं अब पनामा पेपर लीक केस में भी उनकी मुश्किलें बढ़ गई है। पनामागेट मामले की जांच कर रही संयुक्त जांच टीम ने नवाज शरीफ को 15 जून को पूछताछ के लिए बुलाया है।


नवाज शरीफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही किसी टीम के समक्ष पेश होने वाले पहले सेवारत पाकिस्तान के प्रधानमंत्री होंगे। JIT प्रमुख वाजिद जिया ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखकर कहा है कि वह मामले से जुड़े सारे दस्तावेजों के साथ 15 जून को सुबह 11 बजे छह सदस्यीय जांच टीम के सामने पेश हों।


आपको बता दें कि लंदन में नवाज शरीफ के परिवार के स्वामित्व वाली संपत्तियों के लिए इस्तेमाल में लाए गए धन से जुड़ी बारीकियों की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट ने संयुक्त जांच टीम यानी JIT का गठन किया है। JIT ने अनुचित कारोबारी सौदों को लेकर पिछले महीने नवाज के बेटों हुसैन और हसन से भी पूछताछ की थी।