चीन का दबावः नवाज़ शरीफ से मतभेद कम करने पर राजी जनरल रहील शरीफ

नई दिल्ली (18 नवंबर): पाकिस्तान में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। एक पखबाड़े में सेना और सिविल नेतृत्व की दो बार हाई लेवल बैठकों से पाकिस्तान में तरह-तरह की चर्चाओं और अफवाहों का बाजर गरम है। कहा जा रहा है कि इससे पहले 3 अक्टूबर को हुई बैठक का मसौदा लीक हो जाने पर पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल रहील शरीफ ने प्रधानमंत्री नवाज़ शऱीफ को सत्ता छोड़ने का अल्टीमेटम दे दिया था, मगर चीन के दबाव के कारण दोनों पक्ष एक बार फिर बात-चीत के लिए राजी हुए हैं। इसी का नतीजा 18 नवंबर को हुई ताजा बैठक है।

हालांकि, नवाज़ शरीफ के आवास से इस बैठक के बाद एक बयान जारी किया गया है और कहा गया है कि दोनों नेतृत्व ने नेशनल सिक्योरिटी पर चर्चा की। लेकिन कहा जा रहा है कि यह बैठक दोनों नेतृत्व के बीच सामंजस्य के लिए हुई थी। यह भी कहा जा रहा है कि चीन ने परोक्ष और प्रत्यक्ष दोनों तरीकों से हस्तक्षेप कर पाकिस्तान में सेना और सरकार के बीच बढ़ रहे तनाव को कम करने का प्रयास किया है।