सिद्धू फैमिली और अकाली में नहीं बनती

नई दिल्ली(18 जुलाई): क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्हें हाल में राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया गया था। राज्यसभा से उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया गया है। कहा जा रहा है सिद्धू ने नाराजगी की वजह से इस्तीफा दिया है। वहीं खबर आ रही है कि सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने भी इस्तीफा दे दिया है। वह पंजाब सरकार में पत्नी थीं। अगले साल पंजाब में होने वाले विधानसभा को लेकर सिद्धू और उनकी पत्नी का इस्तीफा कई मायनों में बड़ा कदम माना जा रहा है।

बीजेपी-अकाली दल की दोस्ती को लेकर कई बार वह अपनी नाराजगी जता चुके हैं। सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने तो पंजाब के उपमुख्यमंत्री पर हमला कर चुकी हैं। हाल ही में रिलीज हुई फिल्म 'उड़ता पंजाब' को लेकर नवजोत कौर ने पंजाब में ड्रग्स को लेकर कहा था कि ड्रग्स की समस्या काफी विकराल है।

उनका ये बयान पार्टी के बयान से हटकर था। बीजेपी जहां अपनी सहयोगी अकाली दल के साथ पंजाब में ड्रग्स से जु़ड़े विवाद के लिए कांग्रेस और AAP को दोषी ठहरा रही थी, तो सिद्धू की पत्नी और बीजेपी विधायक ने कहा कि पंजाब में ड्रग्स की समस्या काफी विकराल है। उन्होंने कहा कि कुछ नेता तो अपनी लाल बत्ती वाली गाड़ी का इस्तेमाल भी ड्रग्स सप्लाई के लिए कर रहे हैं। बीजेपी विधायक नवजोत कौर सिद्धू ने पंजाब के उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल पर भी निशाना साधते हुए था कि डेप्युटी सीएम सुखबीर ने सभी टॉम, डिक और हैरी को लाल बत्ती बांट दी है। 

नवजोत कौर ने सुखबीर बादल को आगे भी लपेटते हुए ड्रग्स समस्या के लिए बीएसएफ को दोष देने के उनके बयान को भी काउंटर किया। उन्होंने कहा कि अगर सीमा से ड्रग्स आने देने के लिए बीएसएफ जिम्मेदार है, तो सुखबीर सिंह को यह बताना चाहिए कि सीमा से इसे राज्य के दूसरे हिस्सों में कौन पहुंचा रहा है।