क्या कांग्रेस में शामिल होंगे सिद्धू?

नई दिल्ली(5 अक्टूबर): 'आप' और कांग्रेस के बीच झूल रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की। इसके बाद राहुल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को दिल्ली बुलाया है। कैप्टन 7 अक्टूबर तक दिल्ली में ही रहेंगे। सिद्धू से जुड़े लोग कह रहे हैं कि वे 7 अक्टूबर तक कोई फैसला लेंगे। 

- दूसरी ओर, आप के संजय सिंह ने स्पष्ट किया है कि उनकी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी। कैप्टन मंगलवार को अमृतसर में सरहदी गांवों के दौरे पर थे।

- अमृतसर से शाम 6:50 बजे उन्होंने दिल्ली के लिए फ्लाइट ली। कैप्टन 7 अक्टूबर को फिर से अमृतसर दौरे पर जाने वाले थे। लेकिन, अब इसे 10 अक्टूबर तक टाल दिया गया है।

- सूत्र बता रहे हैं कि राहुल और सिद्धू की पहली मुलाकात अच्छी रही है। दोनों पक्षों में बात बनती है तो सिद्धू का फ्रंट आवाज-ए-पंजाब कांग्रेस के साथ जा सकता है।

- कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर कई दिनों से राहुल गांधी और सिद्धू के बीच मुलाकात कराने की कोशिश में थे।

- बताया जा रहा है कि मोहम्मद अजहरुद्दीन ने राहुल-सिद्धू की मुलाकात में अहम भूमिका निभाई।

नए समीकरण के 4 किरदार

- इस समीकरण में 4 मुख्य किरदार हैं, राहुल गांधी, सिद्धू, प्रशांत किशोर और अजहरुद्दीन।

- राहुल जो फैसला लेंगे। सिद्धू, जिनके इर्द-गिर्द सियासत घूम रही।

- प्रशांत, जिन्होंने गठजोड़ की कहानी लिखी। अजहर, जो राहुल और सिद्धू को मिलवाने में अहम कड़ी बने।

 

आप के इनकार से अब कांग्रेस ही सहारा

- सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर कहती आई हैं कि आप या कांग्रेस से अलायंस हो सकता है।

- कैप्टन के दिल्ली रवाना होने के घटनाक्रम के बाद जब आप के पंजाब प्रभारी संजय सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा- ‘हम पंजाब में अपने दम पर सभी 117 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।

- किसी भी पार्टी के साथ न तो अलायंस किया जाएगा, न ही इस बारे में किसी से बात चल रही है।’