पाकिस्तान गए नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर खड़ा किया विवाद, खालिस्तानी आतंकी गोपाल चावला के साथ खिंचाई तस्वीर

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (29 नवंबर): करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह में पाकिस्तान गए कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। भारत के मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद के करीबी खालिस्तानी आंतकी गोपाल सिंह चावला ने आज एक तस्वीर शेयर की है जिसमें  नवजोत सिंह सिद्दू आतंकी गोपाल के साथ-साथ खड़े हैं। इससे पहले भी जब नवजोत पाकिस्तान गए थे तो आर्मी चीफ बाजवा के साथ की तस्वीर सामने आने से नवजोत सिद्धू ने विवाद खड़ा कर दिया था। अब सवाल ये है कि आखिर सिद्धू ऐसा करते क्यों है ? पाकिस्तान जाकर और वहां से लौटकर वो दोनों देशों के बीच अमन और शांति की बात करते हैं? लेकिन क्या उन्हे ये समझ में नहीं आता कि वो भारत जो उनका मुल्क है? आखिर क्यों वो हिंदुस्तान के दुश्मनों के साथ बार-बार गलबहियां करते हैं? आखिर क्यों देश के दुश्मनों के साथ खड़ा होना उन्हें नागवार नहीं होता?अकाली नेता मनजिंदर सिंह ने ट्विटर पर फोटो शेयर करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सिरसा पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने यह कहते हुए पाक का दौरा करने से मना कर दिया था कि पाक भारत और पंजाब के खिलाफ गतिविधियों का समर्थन करता है, लेकिन उसके अपने ही मंत्री  उनकी इच्छा के खिलाफ वहां जाते हैं और गोपाल सिंह चावला के साथ फोटो खिंचवाते हैं, जो हाफिज सईद का करीबी और भारत विरोधी है। क्या कैप्टन साहब अपने गैरजिम्मेदार मंत्री को हटाएंगे।सिरसा ने अपने एक और ट्विट पर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी से बहुत दूर नीरव मोदी के खड़े होने पर बवाल मचाने वाले राहुल गांधी आज इस फोटो पर क्या कहेंगे। सिरसा ने सिद्धू का इस्तीफा मांगा।

आपको क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू इस समय पंजाब सरकार में मंत्री भी हैं।  सिद्धू की चावला के साथ मुलाकात पर पंजाब के कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने निराशा जताई और कहा कि सिद्धू को पहले तो अपने मुख्यमंत्री की बात मान कर वहां जाना ही नहीं चाहिए था, और देश के खिलाफ जो लोग हैं उनसे गले मिलना बहुत बुरी बात है।

इससे पहले भारत-पाकिस्तान के बीच बनाए जा रहे करतारपुर साहिब गलियारे की नींव बुधवार को पाकिस्तान में रखी गई। इस मौके पर पाकिस्तान के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा और खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला के मिलने की तस्वीर से एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का महासचिव है और उसे 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का करीबी माना जाता है। बीते 21 और 22 नवंबर को भारतीय उच्चायोग के राजनयिक अधिकारियों के साथ गुरुद्वारा ननकाना साहब और गुरुद्वारा सच्चा सौदा में बदसलूकी में भी चावला का नाम सामने आया था। गौरतलब है कि दिल्ली में जांच एजेंसियों की एक बैठक में पाकिस्तान में मौजूद खालिस्तान समर्थक आतंकी गोपाल सिंह चावला को लेकर कई सूचनाएं साझा की गई थीं। सूत्रों के अनुसार गोपाल सिंह चावला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई और लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद के साथ मिलकर पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश रच रहा है।

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...