15 दिन का है पितृपक्ष और 10 दिन की नवरात्रि ... !

नई दिल्ली (17 सितंबर): इस बार पितृपक्ष का पखवाड़ा  एक दिन कम, जबकि नवरात्र दस दिन के होंगे।  भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा महालयारंभ से पितृपक्ष से शुरु हुए श्राद्ध इस साल एक तिथि का क्षय होने से 16 दिन के बजाय 15 दिन के रह गये हैं। षष्ठी और सप्तमी का श्राद्ध एक ही दिन होगा। 

इस बार नवरात्र में हस्त नक्षत्र और ब्रह्मयोग होने से सशक्त योग बन रहा है। शास्त्रों के अनुसार यह नवरात्र शेष शुभकारी होगा। विशेषकर स्त्रियों का बल बढ़ेगा। राजसत्ता के लिए महिलाओं में प्रतिद्वंद्विता बढ़ेगी।