समान काम के लिए समान वेतन की मांग तेज, संसद का घेराव करेंगे कर्मचारी

नई दिल्ली (19 दिसंबर): अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी महासंघ लंबे असर से समान काम के लिए समान वेतन की मांग कर रही है। कर्मचारी संघ का आरोप है कि लाख आश्वासन के बावजूत सरकार उनकी इन मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है। लिहाजा इस मुद्दे पर उन्होंने अब कड़ा रुख अपनाना होगा। सरकारी कर्मचारी महासंघ ने केंद्र सरकार पर कर्मचारी और जनता विरोधी नीतियां अपनाने का आरोप लगाते हुए राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

राज्य सरकारों के 60 लाख से अधिक कर्मचारियों की अगुआई करने वाले महासंघ ने 2 मार्च को संसद घेराव करने का ऐलान किया है। अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी महासंघ के अतिरिक्त महासचिव सुभाष लांबा के मुताबिक इस विरोध प्रदर्शन और संसद घेराव में तमाम राज्यों से बड़ी तादाद में कर्मचारी हिस्सा लेंगे। साथ ही

उन्होंने कहा कि समान काम के लिए समान वेतन देने के सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले को लागू करवाने की मांग को लेकर 22 दिसंबर को सभी राज्यों में कमर्चारी विरोध करेंगे इससे पहले 21 दिसंबर को हरियाणा में जिला स्तर के कर्मचारी सामूहिक भूख हड़ताल का आयोजन करने जा रहे हैं।