अब पाकिस्तान की शामत आयी- आतंकियों को शह देने वाले देशों पर कार्रवाई !

नई दिल्ली (17 मार्च): भारतीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा तय आतंकवाद की परिभाषा का उल्लंघन करने वाले देशों और सरकार समर्थित समूहों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा दंडित किया जाना चाहिए। राष्ट्रीय राजधानी में ‘आतंकवाद निरोधक सम्मेलन 2017’ के दौरान गृह मंत्री ने कहा कि हिंद महासागर से 36 देशों की सीमाएं लगती हैं और भारत समेत अन्य देशों को अपनी समुद्री सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। 

राजनाथ सिंह ने कहा, इस लक्ष्य को पाने के लिए हमें संयुक्त राष्ट्र द्वारा तय आतंकवाद की व्यापक परिभाषा को स्वीकार करना होगा। परिभाषा का उल्लंघन करने वाले देशों को दंडित और बहिष्कृत किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि ‘आतंकवाद की व्यापक परिभाषा’ में राज्य समर्थित संगठनों और देशों को भी शामिल किया जाना चाहिए, जो ऐसे समूहों की मदद कर रहे हैं और उनको इस परिभाषा के तहत लाया जाना चाहिए। उन्होंने सम्मेलन के दौरान कहा, राज्य प्रायोजित आतंकवाद की पहचान और ऐसे राज्य प्रायोजित समूहों को अलग-थलग किया जाना निश्चित रूप से उल्लेखनीय बात होगी। इस सम्मेलन के दौरान ‘हिंद महासागर क्षेत्र में आतंकवाद’ विषय पर चर्चा हुई। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हिंद महासागर क्षेत्र में आतंकवाद से जुड़े कार्यक्रम केवल बयानों तक सीमित नहीं रहने चाहिएं और इसको लेकर ठोस कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।