PM मोदी ने कहा, राष्ट्रवाद हमारी ताकत

नई दिल्ली(21 मार्च): पीएम नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रवाद को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सबसे बड़ी ताकत बताते हुए रविवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि वे विपक्ष के दुष्प्रचार की परवाह किए बिना सरकार की योजनाओं को जनता के बीच ले जाने के लिए तन मन धन से काम करें। मोदी ने भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में अपने समापन भाषण में कहा कि सरकार का विकास कुछ लोगों को रास नहीं आ रहा है और वे व्यर्थ के मुद्दे उछालकर सरकार के

उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को इस दुष्प्रचार से अप्रभावित रहकर सरकार की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने में सक्रिय भूमिका निभानी चाहिए। मोदी ने विकास को अपनी सरकार का मूलमंत्र बताते हुए कहा कि केवल इसी से देश की सभी समस्याओं का हल हो सकता है। सरकार सही दिशा में आगे बढ़ रही है, देश में बदलाव आ रहा है और विकास का चक्का तेजी से घूम रहा है।

मोदी ने भाजपा के संगठन में हुए विस्तार की तारीफ करते हुए कहा कि पिछला वर्ष इस मायने में खास रहा और पार्टी का देश के दूरदराज के इलाकों तक विस्तार हुआ है। उन्होंने कहा कि पार्टी का क्षितिज विकास तो हो गया है लेकिन अब कार्यकर्ताओं के क्षमता निर्माण की जरूरत है ताकि वे देश के निर्माण में सक्रिय भूमिका निभा सकें। कार्यकर्ताओं को रचनात्मक सोच के साथ समाज के सभी वर्गों के साथ जुडऩे की कोशिश करनी चाहिए।

बजट के साथ साथ छोटी छोटी बातें लोगों तक पहुंचाएं कार्यकर्ता

पार्टी कार्यकर्ताओं से 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' और 'स्वच्छता अभियान' जैसे कार्यक्रमों से जुडऩे का आह्वान करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जमीन से जुड़े मुद्दे उठाते थे और उन्हें आजादी की लड़ाई से जोड़ते थे। आजादी की लड़ाई के लिए जनाधार ऐसे ही कार्यक्रमों से बढ़ा था। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं को बजट में घोषित योजनाओं जैसी बातों के अलावा छोटी-छोटी बातें भी जनता तक पहुंचानी चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के 68 सालों बाद भी 18500 गांव में बिजली से वंचित थे। सरकार ने 31 मार्च 2017 तक सभी गांवों में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। इनमें से 6500 गांवों में बिजली पहुंचायी जा चुकी है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से ऐसे गांवों में जाकर गांववालों के साथ'ऊर्जा उत्सवÓमनाने का आह्वान किया। मोदी ने कहा कि पार्टी को एक विशाल वटवृक्ष की तरह विकसित किया जाना चाहिए जिसकी जड़ें बहुत गहरी होती हैं तथा उसकी शाखाएं छाया और शीतलता प्रदान करती हैं। संगठन का ऐसा ही स्वरूप होना चाहिए।

उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि सरकार और संगठन कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रहे हैं। 'मुद्रा योजना' की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं को इसके लाभार्थियों से मिलना चाहिए और अगर उन्हें कोई कठिनाई है तो इस बारे में जानकारी हासिल करना चाहिए। प्रधानमंत्री ने कहा कि कार्यकर्ताओं को समाज के प्रबुद्ध लोगों के साथ ही सभी वर्गों तक पहुंचने की कोशिश करनी चाहिए और इसके लिए तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए। कार्यकताओं को तकनीक की समझ विकसित करनी चाहिए क्योंकि देश के विकास में तकनीक की अहमियत दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। इसकी जानकारी होने से कार्यकर्ता जनभावनाओं से भी अवगत हो सकेंगे।