अकाउंट में कैश जमाते होते ही अब आयकर विभाग की साइट पर बजेगी घंटी

 

नई दिल्ली ( 12 नवंबर ) : 500-1000 के नोट बैट होने के बाद बैंकों में लंबी-लंबी लाइनें देखी जा रही हैं और बैंकों में बड़ी संख्या में लोग पैसे जमा करा रहे हैं। अगर आप भी 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद अपने खाते में कैश जमा करने जा रहे हैं, तो पहले यह खबर पढ़ लें। 
आयकर विभाग ने आईटी ई-फिलिंग की अपनी वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov पर एक नए विंडो को जोड़ा है। अब से अपने खाते में आप जो भी कैश जमा करेंगे, वो इस विंडो में दर्ज होगा और टैक्स लिमिट से ज्यादा होने पर आयकर विभाग नोटिस जारी करेगी। इसके लिए आयकर विभाग के सीपीयू से सभी बैंकों के सर्वर लिंक किए जा चुके हैं।

मालूम हो, 500 और 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद लोगों को अपने पास जमा कैश खातों में जमा करने के लिए 30 दिसंबर तक का वक्त दिया है। 2.5 लाख या इससे कम की रकम पर कोई टैक्स नहीं लगेगा, लेकिन उससे ऊपर की राशि पर अधिकारियों की नजर है।

जिन कारदाताओं के ई-फिलिंग अकाउंट हैं, वे लॉगिन कर इस वेबसाइट पर जा सकते हैं और अपने द्वारा जमा कैश अमाउंट की एंट्री देख सकते हैं। यहां अलग-अलग बैंकों के खातों की जानकारी भी दर्ज होगी। यानी कोई भी कालाधन अब आयकर की नजरों से नहीं बच पाएगा। 

आयकर विभाग ने देश भर में बड़े पैमाने पर छापेमारी शुरू कर दी है। प्रवर्तन निदेशालय (ईटी) विदेशी मुद्रा का कारोबार करने वालों की तलाशी में जुट गया है। वित्त मंत्रालय की तरफ से सभी बैंकों को निर्देश दिया गया है कि वह 2.5 लाख रुपये से ज्यादा राशि वाले बैंक खाताधारकों के बारे में हर जानकारी उपलब्ध कराएं।

वित्त मंत्रालय के अफसरों के मुताबिक सभी बैंकों को कहा गया है कि पुराने बड़े नोटों को बदलने की सीमा खत्म होने के बाद उन सभी खातों की जांच की जाएगी, जिसमें 2.5 लाख से ज्यादा की राशि है या इतनी राशि जमा करवाई गई है। बुलियन बाजार और सोने-चांदी की बड़ी दुकानों पर खास तौर पर विभाग की नजर है। सभी खुफिया एजेंसियों को यह कहा गया है कि वे काले धन को लेकर हर सूचना आयकर विभाग के साथ साझा करें।