राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी लूट में गिरफ्तार

नई दिल्ली(5 सितंबर): क्राइम ब्रांच ने ताइक्वांडो के नैशनल प्लेयर सहित पांच बदमाशों को अरेस्ट किया है। आरोपियों की पहचान गैंग लीडर अमित यादव उर्फ रजनीश (22), विकास पुरी (21), विकास (24), सिद्धार्थ शर्मा (20) और गौरव (20) के रूप में हुई। 

- पुलिस ने इनके पास से पांच पिस्टल, आठ कारतूस, लूटे गए लैपटॉप और पांच मोबाइल फोन के अलावा गोल्ड जूलरी भी बरामद की। पुलिस इस गैंग के दो अन्य बदमाशों की तलाश कर रही है।

- डीसीपी भीष्म सिंह ने बताया कि एएसआई महेश त्यागी और सिपाही रवींद्र को सूचना मिली थी कि कुख्यात बदमाश अंकित यादव अपने दो अन्य साथियों के साथ बाइक पर सवार होकर नजफगढ़ ड्रेन के रास्ते से होता हुआ द्वारका पहुंचेगा। इस सूचना के आधार पर एसीपी जसवीर सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर यशपाल सिंह सहित अन्य पुलिस वालों की टीम बनाई गई। 

- पुलिस अफसरों ने बताया कि सिद्धार्थ और गौरव फर्स्ट टाइमर है। सिद्धार्थ ने ताइक्वांडो में जूनियर और सीनियर लेवल पर कई मेडल भी जीते हैं। 12वीं क्लास पास करने के बाद उसने रोबोटिक्स सीखने के लिए नवादा स्थित एक इंस्टिट्यूट में दाखिला ले लिया। यहां से कोर्स खत्म करने के बाद उसने रोबोट बनाने का प्रोजेक्ट शुरू कर दिया, लेकिन इसके लिए उसे पैसों की जरूरत थी। परिजनों से उसे सपॉर्ट नहीं मिला इसके बाद वह अपने जानकार राज के माध्यम से अमित यादव की गैंग में शामिल हो गया। 

- उसे बताया गया था कि इनकी मदद से वह अपने प्रॉजेक्ट को पूरा कर सकता है। विकासपुरी में हुई 3.18 लाख की लूट में वह भी शामिल था, लेकिन इस लूट से उसे मात्र 50,000 रुपये मिले थे। पुलिस अफसरों ने यह भी बताया कि गैंग लीडर एक डीयू स्टूडेंट से एकतरफा प्यार करता है। एक दिन वह अपने साथियों के साथ लड़की के घर पहुंच गया था। उसने लड़की के पिता और भाई को न केवल धमकी दी थी, बल्कि उनके ऊपर फायर भी कर दिया था। गनीमत यह रही कि वह इस हमले में बाल बाल बच गए।