अंतरिक्ष में भारत की बड़ी कामयाबी, चंद्रमा की कक्षा में दाखिल हुआ चंद्रयान-2

K SIVAN

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(20 अगस्त): बेंगलुरु स्थित इसरो मुख्यालय में  चेयरमैन डॉक्टर के सिवान ने मीडिया ब्रीफिंग के जरिए चंद्रयान 2 के लूनर ऑर्बिटर में प्रवेश के बाद चंद्रयान 2 की आगे की राह के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि अगला अहम चरण 2 सितंबर को होगा जब ऑर्बिटर से लैंडर निकल जाएगा। इसके बाद हमें दोनों हिस्‍सों का नियंत्रण करना होगा। इसका सीधा प्रसारण इसरो की वेबसाइट और यू ट्यूब चैनल के जरिए किया गया। इसरो ने अपने ट्वीटर हैंडल के जरिए इस बात की जानकारी पहले ही दे दी थी। उन्‍होंने आगे बताया कि 7 सितंबर को प्रात:काल 1:55 बजे लैंडर चंद्रमा के साउथ पोल पर सतह पर लैंड करेगा। यह लैंडिंग के दौरान की अवधि काफी खतरनाक होगी। इसके बाद उन्‍होंने वहां मौजूद पत्रकारों के सवालों का जवाब बेहतरीन और रोचक तरीके से दिया।

चंद्रयान 2  के मॉडल के जरिए समझाया लैंडिंग का प्रोसेस

सबसे पहले उन्होंने इस मीडिया ब्रीफिंग में होने वाली देरी के लिए माफी मांगी। सिवन ने बड़ी ही रोचक तरीके से चंद्रयान 2 के मिशन के बारे में समझाया। उन्‍होंने हाथ में चंद्रयान 2 का एक मॉडल हाथ में ले रखा था जिसके जरिए उन्‍होंने बताया कि किस तरह ऑर्बिटर से लैंडर अलग होगा और फिर काम करेगा। इसरो अध्‍यक्ष के सिवन से मीडिया ब्रीफ के दौरान एक पत्रकार ने सवाल किया कि चंद्रयान 2 मिशन पर अगर फिल्‍म बनाने की बात होगी तो क्‍या इसरो इसपर कॉपीराइट रखता है। इसपर इसरो अध्‍यक्ष ने हंस कर जवाब दिया कि अभी तक इस बारे में किसी ने संपर्क नहीं किया है।

7 सितंबर को लैंडिंग देखने के लिए पीएम मोदी को आमंत्रण

चंद्रयान 2 की लैंडिंग 7 सितंबर को रात 1.55 पर होगी। इसके साथ ही पावर मिशन शुरू हो जाएगा।  इसरो की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चंद्रयान-2 की लैंडिंग देखने के लिए आमंत्रण भेजा गया है। हालांकि अभी पीएम की ओर से आने की पुष्टि नहीं की गई है।

मिशन का अहम दौर पूरा: इसरो अध्‍यक्ष

इसरो अध्‍यक्ष ने बताया, 'मिशन का अहम दौर पूरा हुआ। इसके साथ ही अंतरिक्ष में इसरो में ने इतिहास रच दिया। उन्‍होंने बताया कि आज सुबह 9बजकर 2मिनट पर हुआ पर चंद्रयान 2 चंद्रमा की कक्षा में स्थापित हो गया अब यह 7 सितंबर को चांद की सतह पर उतरेगा।