Blog single photo

दीवाली पर जगमग होगी राम की नगरी, बनेगा नया रिकॉर्ड

योगी आदित्यनाथ सरकार 26 अक्टूबर को दीवाली की पूर्व संध्या पर अयोध्या में दीपोत्सव (मिट्टी के दीपों का त्योहार) मनाने जा रही है।

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(22 अक्टूबर): योगी आदित्यनाथ सरकार 26 अक्टूबर को दीवाली की पूर्व संध्या पर अयोध्या में दीपोत्सव (मिट्टी के दीपों का त्योहार) मनाने जा रही है। पिछले साल की तरह इस साल भी अयोध्या दीपावली पर जगमगा उठेगा। इस आकर्षण के बीच योगी सरकार इस बार शहर में पांच लाख से अधिक मिट्टी के दीपक जलाकर एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाने का प्रयास करेगी। गुरुवार को राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद के भूमि विवाद के मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी है। ऐसे ये त्योहार और भी धूम धाम से मनाया जा रहा है।

जिला प्रशासन चाहता है कि पिछले साल सरयू नदी के तट पर जलाए गए 300,100 मिट्टी के दीयों का रिकॉर्ड इस बार टूट जाये। इसलिए इस बार प्रशासन पूरी तीर्थ नगरी में 550,000 मिट्टी के दीये जलाने की योजना बना रही है। इसे मार्क करने के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की एक टीम मौजूद रहेगी। अयोध्या के जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने कहा, “इस साल, दीये (मिट्टी के दीपक) न केवल राम की पैड़ी (सरयू नदी के तट पर) बल्कि शहर भर में जलाए जाएंगे। 

हमने पिछले साल की तुलना में दीपोत्सव को व्यापक बनाने के लिए विस्तृत व्यवस्था की है।” तीन दिवसीय समारोह 24 अक्टूबर से शुरू होगा और इसमें थाईलैंड, नेपाल, इंडोनेशिया, सूरीनाम और मॉरीशस के समूह रामलीला प्रदर्शित करेंगे। सरयू नदी के तट पर जहां 400,000 मिट्टी के दीपक जलाए जाएंगे, वहीं शहर के प्रमुख धार्मिक स्थलों पर 150,000 दीपक जलाए जाएंगे। अयोध्या में सभी सरकारी-संचालित प्राथमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भी थानों और चौकियों के साथ दीयों से जगमगाएंगे।

दीपोत्सव कार्यक्रम 14 साल के वनवास के बाद राम की अयोध्या में वापसी को दर्शाते हुए साकेत महाविद्यालय से राम कथा पार्क तक एक झांकी जुलूस के साथ शुरू होगा। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम कथा पार्क में मुख्य समारोह में राम और सीता का चित्रण करने वाले अभिनेताओं का स्वागत करेंगे और हेलीकॉप्टर से गुलाब की पंखुड़ियों की वर्षा की जाएगी। सार्वजनिक प्रसारणकर्ता दूरदर्शन दीपोत्सव का सीधा प्रसारण करेगा, जिसे शहर भर में लगाए जाने वाले बड़े टीवी स्क्रीन पर देखा जा सकता है। पिछले साल, दीपोत्सव पर दक्षिण कोरियाई पहली महिला किम जुंग-सूक मुख्य अतिथि थीं।

Tags :

NEXT STORY
Top