''700 दवाइयों के दाम किए तय, जीवनरक्षक दवाओं को किया सस्ता''


सूरत (17 अप्रैल): सूरत में पीएम मोदी एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मेरे काम से रोज कई ना कोई नाराज होता है। मेरे फैसले से कई दवा कंपनियां नाराज हुई। पीएम ने कहा कि सबको बेहतर स्वास्थ्य सेवा देना मेरी सरकार की प्राथमिकता है।


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'परिवार का एक सदस्य भी बीमार हो जाए तो परिवार मुश्किल में पड़ जाता है। भारत सरकार ने हेल्थ पॉलिसी घोषित की है। अटल जी की सरकार के बाद 15 साल बाद यह सरकार हेल्थ पॉलिसी लाई।' उन्होंने कहा, 'सबको इलाज मिलना चाहिए। दवाइयां बनाने वाली कंपनियां मनमाना कीमत वसूलती थी। हमने नियम बनाया। 700 दवाइयों के दाम तय कर दिए। कई जीवनरक्षक दवाओं को सस्ता किया।' पीएम मोदी ने कहा कि जो दवाएं पहले 1200 में मिलती थीं अब 70 रुपये में मिलती हैं।


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज हर व्यक्ति हृदय रोग को लेकर चिंतित रहता है। स्टेंट की कीमतों को कम करने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा, 'दो महीने पहले हमने फैसला किया कि 40 हजार में जो स्टेंट बिकते थे वे 6 हजार में बिके। डेढ़ लाख के स्टेंट 20-22 हजार में बिके।' उन्होंने कहा कि डॉक्टर अब जेनरिक दवा लिखेंगे ताकि गरीबों को लाभ मिले। प्रधानमंत्री ने इंद्रधनुष टीकाकरण योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इसके तहत जिन महिलाओं का टीकाकरण नहीं हुआ उनका टीकाकरण किया जा रहा है। करीब 2 करोड़ ऐसी महिलाओं का टीकाकरण इस योजना के तहत हुआ है।