मणिपुर में जो काम कांग्रेस ने 15 साल में नहीं किया, हम 15 महीने में करेंगे: पीएम मोदी

नई दिल्ली(25 फरवरी): पीएम नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इंफाल जिले के लांगजिंग अचोउबा मैदान में एक रैली की। उन्होंने कहा कि हमे सिर्फ पांच साल दीजिए। आपने कांग्रेस को 15 साल दिए है। जो काम उन्होंने 15 साल में नहीं किए, वे हम 15 महीने में करके दिखाएंगे।"

- मोदी ने कहा - "पहले कोई यहां आता नहीं था, आना पड़ता था। एनईसी की मीटिंग होती है, उसमें हमारे मंत्री रहते हैं और नॉर्थ ईस्ट की समस्याओं के लिए मिलकर रास्ता निकाले हैं। एनईसी की मीटिंग में जब 40 साल पहले मोरारजी पीएम थे, तब वो नॉर्थ ईस्ट में आए थे। नॉर्थ ईस्ट में इतने सालों तक कोई भी एनईसी के लिए नहीं आया था। मैं यहां रुका सभी सीएम से बातें कीं और जो उनकी प्लानिंग और आइडियाज थे, उन्हीं को लागू करने के लिए योजना बना दी।"

- सिक्किम तेजी से आगे नहीं बढ़ रहा है। जहां कांग्रेस की सरकार बैठी है, वहां कोई डेवलपमेंट नहीं हो रहा है। इन्होंने करप्शन के जो खेल खेले हैं, उन्होंने हम कभी नहीं भूल सकते। मणिपुर इतना समृद्ध है, लेकिन यहां गरीबी है। 15 साल बाद भी कोई बदलाव नहीं ला पाए। अगर गरीबों के लिए इनका ये नजरिया है तो मणिपुर का विकास कैसे होगा।"

- "यहां जब नेताओं से करप्शन होता है, तो नेता बोलते हैं कि दिल्ली में बैठे नेताओं को भेजना पड़ता है। ऐसा कैसा करप्शन कि पार्टी चलाने के लिए यहां से दिल्ली पैसा जाए। ये पापचक्र बंद होना चाहिए।"

- "कांग्रेस ने ये स्थिति पैदा की हैं। टीचर बनना है रेट लगता है। दारोगा, क्लर्क, रसोइया, ड्राइवर भी बनना है, तो रेट लगता है। क्या आप लोगों को इस काम के लिए बैठाया है? इन दिनों यहां के लोगों को बिजली की कटौती हिंदुस्तान में जो औसत बिजली की कमी है, उससे मणिपुर में कहीं ज्यादा कमी है।"

- "मणिपुर को भारत सरकार सस्ती बिजली देने को तैयार है, लेकिन यहां की कांग्रेस सरकार आपको अंधेरे में रखना चाहती है। कांग्रेस सरकार जानती है कि बिजली आएगी तो टीवी चलाएंगे,पता चलेगा कि केंद्र ने इतना पैसा दिया। काम नहीं हुआ, पैसा आया, जनता को पता चलेगा तो सरकार चली जाएगी। बिजली नहीं आएगी तो कारखाना कौन लगाएगा, युवाओं को रोजगार कैसे मिलेगा?"

- "70 साल से गरीबों से जो लूटकर अपनी तिजोरियों में भरा है, मैं उसको बाहर लाना चाहता हूं, ताकि ये गरीबों के काम आए। स्टेशन बनें, अस्पताल बनें, कुएं में पानी नहीं है तो पानी आए।"

- " ये देश की जनता का पैसा है। जो लूटा हुआ माल है न, वो मैं वापस लेकर रहूंगा। यहां के सीएम समझ लें कि मणिपुर में 15 साल में जो करप्शन हुआ है, उसका कच्चा चिट्ठा हम खोल देंगे। आपने यहां के समाजों को, भाई-भाई को लड़ा दिया। क्या राजनीति इतनी नीचे गिर गई है।"

- "मैं यहां के सीएम से पूछना चाहता हूं कि एक साल सोए थे क्या? जब चुनाव घोषित हो गया तो झूठ फैलाकर भाइयों को बांटने का काम कर रहे हैं। मणिपुर की जनता तय करे कि 15 साल से करप्शन कर रहे सीएम के झूठ को मानना है कि ढाई साल से इमानदारी के साथ काम कर रहे पीएम की बात मानेंगे। मैं इस पवित्र धरती पर आकर वादा करता हूं कि ऐसा कोई भी एकॉर्ड में एक भी शब्द नहीं है, जो मणिपुर के हितों की रक्षा ना करता हो।'