मोदी सरकार के चार साल, जेटली ने कहा, यूपीए सरकार थी आजाद भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार

नई दिल्ली ( 26 मई ): मोदी सरकार ने 26 मई को अपने 4 साल पूरे कर लिए। इस मौके पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फेसबुक पर ब्लॉग पोस्ट के जरिए सरकार की उपलब्धियों का बखना किया है। जेटली ने यूपीए सरकार को आजाद भारत की सबसे भ्रष्ट सरकार बताया है। साथ ही उन्होंने लिखा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश को घोटाला मुक्त शासन दिया है। जेटली ने पीएम मोदी को पार्टी और देश दोनों का नेता बताया।जेटली ने आगे लिखा है कि वैश्विक आर्थिक दृश्य पर भारत 'ब्राइट स्पॉट' के रूप में उभरा है। वित्त मंत्री ने लिखा, 'यूपीए शासन के पिछले 10 वर्षों को स्वतंत्रता के बाद से सबसे भ्रष्ट सरकार के रूप में निर्विवाद देखा गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विधायी और संस्थागत परिवर्तनों के माध्यम से पारदर्शी प्रणाली बनाई, जिसने इस देश को घोटाला मुक्त शासन दिया है। यूपीए के विपरीत, प्रधानमंत्री उनकी पार्टी और राष्ट्र दोनों के प्राकृतिक नेता हैं। उन्होंने कहा कि हमने अनिश्चितता से स्पष्टाता और निश्चितता की यात्रा देखी है। वैश्विक आर्थिक दृश्य पर भारत 'FRAGILE FIVE' से 'ब्राइट स्पॉट' के रूप में उभरा है। नीति पक्षाघात का शासन निर्णय और कार्यों में बदल दिया गया है।'जेटली ने आगे लिखा कि अच्छी राजनीति के साथ सुशासन और अच्छी अर्थशास्त्र को मिश्रित किया गया है। इसका नतीजा यह हुआ है कि बीजेपी अधिक आत्मविश्वास से भरपूर है, इसका भौगोलिक आधार बहुत बड़ा हो गया है, इसका सामाजिक आधार बढ़ गया है और इसकी जीत में काफी वृद्धि हुई है।कांग्रेस पर निशाना साधते हुए जेटली ने कहा कि ये भारतीय राजनीति की प्रमुख पार्टी से हाशिए की और बढ़ रही है। इसकी राजनीतिक स्थिति मुख्यधारा की पार्टी की नहीं है। फ्रिंज संगठन कभी सत्ता में आने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं। इसकी सबसे अच्छी आशा क्षेत्रीय राजनीतिक दलों के समर्थक बनने में निहित है।

उन्होंने कहा कि राज्य स्तर के क्षेत्रीय राजनीतिक दलों ने महसूस किया है कि हाशिए वाली कांग्रेस सबसे अच्छी जूनियर पार्टनर या मामूली समर्थक हो सकती है। कर्नाटक में इसका एक संक्षिप्त उदाहरण देखा गया। एक क्षेत्रीय राजनीतिक दल जिसका आधार कुछ जिलों तक सीमित है, वह कांग्रेस के मुख्यमंत्री को निकालने में सक्षम था, जिस पर कांग्रेस ने नम्रता से आत्मसमर्पण किया। यह अपनी सौदा क्षमता भी खो गई है।जेटली का हाल ही में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में किडनी ट्रांसप्लांट का ऑपरेशन हुआ है। जेटली के ठीक होने तक पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। अरुण जेटली को आईसीयू से एक प्राइवेट वार्ड में स्थानांतरित किया गया है और उनकी स्थिति में सुधार हो रहा है। जेटली का 14 मई को एम्स में सफल किडनी प्रतिरोपण हुआ था।