म्यांमार से बोले पीएम मोदी, 5 'B' पर आधारित हैं दोनों देशों के संबंध

नई दिल्ली (6 सितंबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी म्यांमार में प्रवासी भारतीयों को संबोधित कर रहे हैं। उनके पहुंचने से पहले ही पूरे हॉल में मोदी मोदी के नारे लगने शुरू हो गए। यांगून के थुवन्ना स्टेडियम में भारी संख्या में प्रवासी भारतीय इकट्ठा हुए हैं। सिर्फ भारतीय नहीं बल्कि म्यांमार निवासियों में भी मोदी के लिए क्रेज देखने को मिला। 

-भारतीय समुदाय को पीएम ने दी त्योहारों की बधाई।

-मैं अपने सामने एक मिनी इंडिया के दर्शन कर रहा हूं।

-भारत और म्यांमार की सीमाएं ही नहीं भावनाएं भी एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं। 

-मैं यांगून की संस्कृति को नजदीक से देखना चाहता था।

-म्यांमार ने बुद्ध की शिक्षाओं को संवारा है। 

-म्यांमार में रह रहे भारतीय हमारे राष्ट्रदूत हैं। 

-हम भारत को रिफाॅर्म नहीं ट्रांसफाॅर्म कर रहे हैं।

-हम देश हित में बड़े और कड़े फैसले लेने में नहीं घबराते ।

-व्यापार को आसान करने के लिए नियम सरल किए जा रहे हैं ।

-कालेधन के खेल में लगीं लाखों कंपनियों का पता चला। 

-वसुधैव कुटुम्बकम पर हमें गर्व है, यह हमारी रगों में है।

-'सबका साथ, सबका विकास', जिस मंत्र पर हमारी सरकार चल रही है वह एक देश तक सीमित नहीं हैं।

-5 'B' पर आधारित हैं दोनों देशों के संबंध-बौद्ध धर्म, बिजनस, बॉलिवुड, बर्मा टीक और भरतनाट्यम।  

-हमने म्यांमार के 40 मछुआरों को रिहा करने का फैसला किया है। 

-भारत का लोकतांत्रिक अनुभव हम म्यांमार के साथ साझा कर रहे हैं।   -भारत उत्तर पूर्व राज्यों को साउथ ईस्ट एशिया का गेटवे में मानता है, जिसका रास्ता म्यांमार में खुलता है। 

-किसी भी प्रकार की आपदा में हम न सिर्फ भारतीयों के लिए बल्कि सभी के लिए सबसे पहले प्रतिक्रिया देते हैं। 

जितने व्यापारी टैक्स सिस्टम से 6 साल में नहीं जुड़े थे वह 2 महीने में जुड़े। 

-नोटबंदी के बाद ऐसे लोगों के बारे में पता चला है जिनके अकाउंट में करोड़ों रुपये जमा हैं लेकिन उन्होंने कभी इनकम टैक्स नहीं भरा।

-चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो, या जीएसटी, या नोटबंदी हो हमने हर फैसला बिना डर और संकोच के लिया है। 

-पोर्ट्स को विकसित करने के लिए सागरमाला परियोजना तेजी से आगे बढ़ रही है।

-रेलवे, सड़क, एयरपोर्ट में जितना निवेश किया जा रहा है, पहले कभी नहीं किया गया।

-हमने संकल्प किया है कि गरीबी, आतंकवाद, सांप्रदायिकता, भ्रष्टाचार मुक्त ग्रीन इंडिया बनाकर रहेंगे।