खेती ही भारत की ताकत, हर तरह की फसलें होती हैं यहां: वर्ल्ड फूड इंडिया में मोदी

नई दिल्ली(3 नवंबर): पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को विज्ञान भवन में वर्ल्ड फूड इंडिया 2017 का इनॉगरेशन किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा- "भारत की ताकत उसका एग्रीकल्चर है। इसमें विविधता भी है। हमारे यहां कई तरह की फसलें होती हैं। भारत गेहूं, चावल, केला, पपीता, मछली और सब्जियों को उगाता है। फूड प्रोसेसिंग भारत में जीवन जीने का तरीका है। साधारण घरेलू तकनीकों से हमारे यहां कई चीजें अचार-मुरब्बे, पापड़, चटनियां बनाई जाती हैं।" 

-  इस आयोजन में ग्लोबल इन्वेस्टर्स समेत बड़ी फूड कंपनियों के चीफ हिस्सा ले रहे हैं। इसका आयोजन फूड प्रोसेसिंग मिनिस्ट्री की ओर से किया गया है। तीन दिन चलने वाले इस मेले का मकसद फूड इकोनॉमी में बदलाव लाना और भारत को ग्लोबल फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री का सोर्सिंग हब बनाकर किसानों की इनकम को दोगुना करना है। इस मेले में 800 किलो खिचड़ी पकाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की कोशिश भी की जाएगी।

- नरेंद्र मोदी ने कहा- "भारत आज दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली इकोनॉमी है। जीएसटी ने विकास के नए रास्ते खोले हैं और कई टैक्सों को खत्म किया है। प्राइवेट सेक्टर की भागीदारी बढ़ी है। अब कॉन्टैक्ट फॉर्मिंग भी हो रही है।"

- "वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में भारत ने इस साल 30 पायदान की छलांग लगाई है।"