Blog single photo

Howdy Modi: पीएम मोदी बोले- धारा-370 को हमने फेयरवेल दे दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह्यूस्टन के एनआरजी स्टेडियम में आज 50 हजार लोगों की विशाल भीड़ को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम को 'हाउडी मोदी' नाम दिया गया है। इस मौके पर पीएम मोदी के साथ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(22 सितंबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एनआरजी स्टेडियम में मौजूद हैं। यहां वो 50 हजार लोगों की विशाल सभा को संबोधित कर रहे हैं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि अबकी बार ट्रंप सरकार तो ट्रंप ने मोदी को बड़ी जीत पर बधाई दी। दोनों दिग्गज करीब 100 मिनट साथ रहेंगे. इससे पहले कार्यक्रम का आगाज रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ। 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम भारत और अमेरिका दोनों ही देशों के लिए अहम माना जा रहा है।

लाइव अपडेट्स:

-पीएम मोदी ने कहा कि सरकार आसान जीवनशैली की दिशा में काम कर रही है। 5 साल में 50 फीसदी लोगों के पास बैंक खाते हैं। गैस कनेक्शन 55 से 95 फीसदी तक लोगों को मिल गया है। 10 हजार से ज्यादा सरकारी सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध है। पहले टैक्स रिफंड आने में महीनों लग जाते थे, लेकिन अब 10 दिनों में रिफंड सीधे खाते में चला जाता है। उन्होंने कहा कि दर्जनों टैक्स के जाल को हमने फेयरवेल दे दिया है और जीएसटी लाए है। साथ भष्ट्रचार की भी विदाई कर रहे हैं. भारत में एक दिन में 50 लाख लोगों ने इनकम टैक्स भरा है। टेलीकॉम क्षेत्र में भी भारत तेजी से बढ़ रहा है। मोदी ने कहा कि हम देश में 3.5 संदिग्ध कंपनियों को फेरवल दे दिया है। जम्मू-कश्मीर से धारा-370 को भी फेयरवेल दे दिया गया है।

-पीएम मोदी ने कहा कि जब लोगों की मूलभूत जरूरतों की चिंता खत्म हो रही है, तो बड़े सपने देख रहे हैं और बड़ा अचीव करने में अपनी एनर्जी लगा रहे हैं। सिर्फ पांच साल में हमने देश के ग्रामीण इलाकों में 2 लाख किलोमीटर से ज्यादा सड़कों का निर्माण किया है। भारत में रूरल रोड कनेक्टिविटी सिर्फ पहले 55 फीसदी थी, जो हमने पांच साल में हमने 97 प्रतिशत तक ले गए। हमारे यहां इज ऑफ डुइंग बिजनस का जितना महत्व है और उतना ही इज ऑफ लिव का भी है, उसका रास्ता सशक्तिकरण है। जब सामान्य व्यक्ति सशक्त होगा, तो देश का सामाजिक आर्थिक विकास आसानी से होगाः पीएम मोदी

-पीएम मोदी ने कहा कि देश का रूरल सेनिसेटन हमने पांच साल में 11 करोड़ यानी 110 मिलियन से ज्यादा शौचालय बनाए हैं। हम बड़ा लक्ष्य रख रहे हैं और बड़ा हासिल कर रहे हैं। भारत उनकी सोच को बदल रहा है जिन्हें लगता है कि कुछ बदल ही नहीं सकता।

-ट्रंप के बाद जब पीएम मोदी दोबारा संबोधित हुए कहा कि Howdy माई फ्रेंड्स, ये जो माहौल है व अकल्पनीय है। आज हम यहां नई हिस्ट्री के साथ केमेस्ट्री भी देख रहे हैं। एनआरजी की एनर्जी भारत-अमेरिका की बढ़ती सिनर्जी की गवाह है। ये मोदी अकेले नहीं है। हाउडी मोदी का जवाब ये है कि भारत में सब अच्छा है। मोदी ने कहा कि इस कार्यक्रम के लिए बड़ी संख्या में लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन जो लोग नहीं आ पाए उनसे मैं व्यक्तिगत रूप से क्षमा मांगता हूं। 

-पीएम मोदी ने कहा कि यह दृश्य अकल्पनीय है, राष्ट्रपति ट्रंप का धन्यवाद। इस अपार जनसमूह की उपस्थिति केवल संख्या तक सीमित नहीं है। आज हम एक नई हिस्ट्री बनते देखे रहे हैं, और एक नई केमिस्ट्री भी देख रहे हैं। अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप का यहा आना और नेताओं का यहां आना अमेरिका में रहने वाले भारतीयों का सम्मान। 

-भारत-अमेरिका के बीच नई रक्षा साझेदारी पर काम होगा। भारत के साथ मिलकर इस्लामिक आतंकवाद से लड़ेंगे. सीमा सुरक्षा के लिए दोनों देश साथ काम करेंगे। उन्होंने कहा कि अवैध प्रवासी हमें बिल्कुल स्वीकर नहीं है. हमें अमेरिका के लोगों के हित में काम करना है। भगवान सबका भला करे, भारत का भी और अमेरिका का भी।

-ट्रंप ने अपने संबोधन में कहा कि अमेरिका में भारत का मुझसे अच्छा दोस्त राष्ट्रपति नहीं रहा। मोदी कार्यकाल में दुनिया भारत को एक मजबूत देश के रूप में देख रही है. मोदी के नेतृत्व में भारत मजबूत हो रहा। दोनों देश का संविधान we the people से शुरू होता है। मोदी राज में 30 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आए। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका अर्थव्यस्था सबसे अच्छी है। सुरक्षा के लिहाज से मिलकर दोनों देश मिलकर काम कर रहे हैं। इस्लामिक आंतकियों से बचाव करने के लिए हम तैयार हैं।

भारत और अमेरिका के बीच आज रिश्ते काफी प्रगाढ़ हो चुके हैं। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं भारत के हित के लिए अब तक का सबसे अच्छा मित्र वाइट हाउस में हैं। भारतीय पीएम को यह बात पता है। हमारे दोनों देशो के रिश्ते लोकतंत्र की बुनियाद पर खड़े हैं, कानून के हिसाब से दोनों देशों में शासन चलता है। दोनों देशों का संविधान 'वी द पीपल' जैसे 3 महान शब्दों के साथ शुरू होता हैः डोनाल्ड ट्रंप

-अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मैं भरोसेमंद दोस्त भारतीय पीएम मोदी को धन्यवाद कहता हूं। वह भारत के लिए काफी अच्छा काम कर रहे हैं। कुछ महीने पहले भारत में चुनाव हुए और लोगों ने पीएम मोदी और उनकी पार्टी के लिए मतदान किया। मैं उन्हें बधाई देता हूं, पीएम को जन्मदिन की भी बधाई।ट्रंप ने भारतीय समुदाय को धन्यवाद देते हुए कहा कि आप हमारी संस्कृति को समृद्ध बनाते हैं, आपने अमेरिका के लिए काफी योगदान दिया है।

- पीएम मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत गुड मॉर्निंग ह्यूस्टन, गुड मॉर्निंग टेक्सस, गुड मॉर्निंग अमेरिका की। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि ट्रंप किसी परिचय के मोहताज नहीं है। अरबों लोग ट्रंप के शब्द-शब्द को फॉलो करते हैं। विश्व की राजनीति में ट्रंप का बड़ा वजूद है। मुझे ट्रंप में हमेशा अपनापन दिखता है। उन्होंने कहा कि 'अब की बारी ट्रंप सरकार'. उन्होंने कहा कि ट्रंप का लक्ष्य अमेरिका को फिर से महान बनाने का है, वो अमेरिकी अर्थव्यवस्था को मजबूत कर रहे हैं। उन्होंने अमेरिकी और दुनिया के लिए काफी कुछ किया है। 

-पीएम मोदी ने कहा कि दो महान राष्ट्रों के बीच मानवीय रिश्ते मजबूत हैं, ह्यूस्ट से लेकर हैदराबाद, बोस्टन से लेकर बेंगलुरु, शिकागो से शिमला, लॉल एंजेल्स से लुधियाना, न्यू जर्सी से तक रिश्ते मजबूत हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का स्वागत करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'आज हमारे साथ एक महत्वपूर्ण शख्स मौजूद हैं, इन्हें किसी पहचान की जरूरत नहीं है। इनका नाम धरती का हर व्यक्ति जानता है।'

-हाउडी मोदी: ह्यूस्टन के NRG स्टेडियम पहुंचे अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, हाउडी मोदी। स्टेडियम में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने किया ट्रंप का स्वागत।

-पीएम मोदी ने अमेरिका के ह्यूस्टन में 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में भव्य स्वागत के लिए ट्वीट के जरिए धन्यवाद जताया।

-ह्यूस्टन के मेयर सिलविस्टर टर्नर ने भारत-अमेरिका के संबंधों के प्रति सम्मान और एकजुटता प्रदर्शित करते हुए प्रतीकात्मक 'शहर की चाबी' सौंपी।

-प्रधानमंत्री मंच पर पहुंच चुके हैं. यहां वो 50 हजार लोगों की विशाल सभा को संबोधित करने वाले हैं। 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मंच साझा कर रहे हैं। दोनों दिग्गज करीब 100 मिनट साथ रहेंगे।

-हाउडी मोदी कार्यक्रम में मंच पर पहुंचे अमेरिकी सांसद, भारतीय समुदाय के योगदान को कर रहे हैं याद।

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ह्यूस्टन में 'हाउडी मोदी' इवेंट में शामिल होने के लिए एनआरजी स्टेडियम पहुंच गए हैं। उधर, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का विशेष विमान भी ह्यूस्टन में लैंड कर गया है। बताया जा रहा है कि कुछ देर में ट्रंप और मोदी एक साथ मंच पर आएंगे।

-अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के ट्वीट का पीएम मोदी ने दिया जवाब, बोले- आपसे मुलाकात का इंतजार है।

-भारत की महान संस्कृति की झलक को विभिन्न कार्यक्रमों के जरिए दर्शाया गया।

-हाउडी मोदी कार्यक्रम को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया है। ट्रंप ने लिखा 'टेक्सास में आज का दिन शानदार रहेगा. ह्यूस्टन में आज अपने दोस्तों के साथ रहूंगा।' 

-ह्यूस्टन का एनआरजी स्टेडियम में 'हाउडी मोदी' शो शुरू हो चुका है। यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत गुरुवाणी के साथ हुई। स्टेडियम में जोश देखने लायक है। इस स्टेडियम में 70 हजार लोग बैठ सकते हैं, पूरा स्टेडियम खचाखच भरा हुआ है। 

HowdyModi कार्यक्रम के लिए एनआरजी स्टेडियम में भीड़ जुट रही है। इस दौरान लोगों का उत्साह देखने लायक है। वंदे मातरम के साथ-साथ मोदी-मोदी के नारे स्टेडियम में लग रहे हैं। कुछ लोग स्टेडियम में 'मंदिर यहीं बनाएंगे' का नारा भी लगाते दिखे।

ह्यूस्टन के लिए निकले अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंपअमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ह्यूस्टन के लिए निकल चुके है। थोड़ी देर में वह कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। बता दें कि इस कार्यक्रम में पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति 100 मिनट साथ रहेंगे। इस दौरान 30 मिनट ट्रंप भाषण देंगे.'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में लोग पहुंच रहे हैं। लोगों का उत्साह देखने लायक है। स्टेडियम में मोदी-मोदी के नारे और ढोल बजने शुरू हो गए हैं।

'Howdy मोदी' के लिए क्यों चुना गया ह्यूस्टन?

'हाउडी मोदी' कार्यक्रम भारत और अमेरिका दोनों ही देशों के लिए अहम माना जा रहा है। मोदी के इस कार्यक्रम के लिए ह्यूस्टन शहर को ही क्यों चुना गया और पिछले कुछ दिनों से रिश्तों में खटास के बावजूद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए क्यों मान गए इसकी पड़ताल अहम है। 'हाउडी मोदी' कार्यक्रम ह्यूस्टन में हो रहा है जो टेक्सास का एक शहर है। यहां बड़ी संख्या में भारतीय मूल के अमेरिकी रहते हैं। ह्यूस्टन के अलावा डलास भी टेक्सास की प्रमुख जगह है। 

दोनों ही जगह उन टॉप 10 शहरों में शामिल हैं जहां भारतीय-अमेरिकी लोगों की संख्या अधिक है। पीएम मोदी न्यूयॉर्क, सेन जोस और वशिंगटन डीसी में भी ऐसे इवेंट्स में शामिल हो चुके हैं। मोदी के हर इवेंट में अच्छी खासी संख्या में लोग पहुंचे और इसका असर सीधे तौर पर भारतीय राजनीति पर भी पड़ा. इससे लोगों के बीच सीधा संदेश जाता है कि अब विदेश में भारत की छवि बेहतर हो रही है। 

Tags :

NEXT STORY
Top