'मोदी और ट्रंप में खूब जमेगी'

नई दिल्ली(20 जुलाई): एक टॉप रिपब्लिकन नेता का कहना है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डॉनल्ड ट्रंप दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने में स्वभाविक रूप से फिट हैं। उन्होंने कहा कि ये दोनों नेता अमेरिका और भारत के संबंधों को नए मुकाम पर ले जाएंगे। रिपब्लिकन नेता ने कहा कि मोदी और ट्रंप दुनिया को ज्यादा सुरक्षित और बेहतर बनाएंगे।

पूर्व स्पीकर ऑफ द यूएस हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स नीट गिंग्रिच ने रिपब्लिकन हिन्दू कोअलिशन की तरफ से आयोजित ब्रेकफस्ट में कहा, 'डॉनल्ड ट्रंप अमेरिका की सुरक्षा को लेकर काफी टफ नेता हैं और मोदी भी इंडिया को लेकर बेहद सतर्क नेता हैं। दोनों नेता अपने-अपने देशों को एक मुकाम पर ले जाने की कोशिश कर रहे हैं।'

गिंग्रिच को डॉनल्ड ट्रंप का बेहद करीबी माना जाता है। उन्होंने कहा, 'ट्रंप भारत से संबंधों को आगे बढ़ाने में मोदी के साथ स्वभाविक डीलमेकर हैं। प्रधानमंत्री मोदी जानते हैं कि दोनों देशों के लोगों को कैसे करीब लाना है। दोनों बातचीत करना जानते हैं। मेरा मानना है कि लोग हैरान रह जाएंगे जब ट्रंप राष्ट्रपति बनेंगे और दोनों नेता आपस में बैठकर बात करेंगे। मोदी और ट्रंप दोनों आत्मविश्वास से भरे नेता हैं। दोनों एक दूसरे को पसंद करते हैं।' गिंग्रिच उन अमेरिकी नेताओं में से हैं जिन्होंने गुजरात में मोदी के मुख्यमंत्री रहने के दौरान बढ़िया संबंध विकसित कर लिया था।

गिंग्रिच ने कहा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक पेशेवर राजतीनिज्ञ हैं। वह ट्रेड और उद्दमशीलता के मामले में बेहद कामयाब नेता हैं। वह इंडिया को बिजनस लायक देश बनाने के लिए काफी काम कर रहे हैं। गुजारत में उनके रेकॉर्ड को देखा जा सकता है। दिल्ली आकर भी वह कड़ी मेहनत कर रहे हैं। रेड टेप और नौकरशाही को कम करने में वह अहम भूमिका अदा कर रहे हैं। वह पूंजी क्रिएट करने की कोशिश कर रहे हैं।'

पूर्व स्पीकर ने नरेंद्र मोदी की हाल की अमेरिकी यात्रा और अमेरिकी कांग्रेस के संबोधन की तारीफ की। उन्होंने कहा कि एशिया और दुनिया के भविष्य के लिए दोनों बड़े और ताकतवर लोकतंत्र को साथ आना बहुत जरूरी है। गिंग्रिच ने कहा, 'पाकिस्तान का परमाणु हथियार किसी गैरजिम्मेदार हाथ में न चला जाए इसकी आशंका डराने वाली है। इसे सुरक्षित करने की जरूरत है। एक अनुमान के मुताबिक पाकिस्तान के पास 200 वॉर्हेड्स हैं।'

इस साल की शुरुआत में गिंग्रिच ने रिपब्लिकन हिन्दू कोअलिशन (आरएचसी) बनाने में अहम भूमिका अदा की थी। यह यहूदी रिपब्लिकन कोअलिशन की तर्ज पर बना है। आरएचसी के चेयरमैन शिगाको बेस्ड इंडस्ट्रलिस्ट शलभ कुमार हैं। गिंग्रिच ने रिप्बलिकन पार्टी के नैशनल कन्वेंशन में किसी इंडियन अमेरिकन को आमंत्रित नहीं करने की गलती को स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि यह गलती हुई है। उन्होंने कहा कि कन्वेंशन में किसी इंडियन-अमेरिकन को भी एक वक्ता के रूप में होना चाहिए था। गिंग्रिच ने कहा कि भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिकों में काफी प्रतिभा है।