पीएम मोदी के मंत्रिमंडल का विस्तार, 9 संभावित मंत्रियों के बारे में जानें

नई दिल्ली (3 सितंबर): केंद्रीय कैबिनेट में रविवार सुबह 10.30 बजे बड़ा फेरबदल होने जा रहा है। खबरों के मुताबिक इस बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में 9 नए चेहरों को शामिल किया जा रहा है, तो वहीं कुछ मंत्रियों की छुट्टी या उनके विभाग बदले जा रहे हैं। 

इससे पहले मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले चेहरे को लेकर शनिवार दिन भर अटकलें चलती रहीं। इस दौरान अमित शाह के घर नेताओं का आना-जाना भी लगा रहा। इसके बाद देर शाम बीजेपी की तरफ से 9 नए नेताओं के नाम सामने आए, जिन्हें मोदी मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी।
 
इस लिस्ट में जिन नेताओं के नाम शामिल हैं, उन्हें फोन पर शपथग्रहण का आमंत्रण मिल गया है। इन 9 नामों में यूपी और बिहार से 2-2 नेता तथा केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और राजस्थान से एक-एक मंत्री बनाए जाएंगे। 

-वीरेंद्र कुमार मध्य प्रदेश के टिकमगढ़ से लोकसभा सांसद हैं। इसके अलावा मजदूर मामलों पर बनी संसदीय समिति के प्रमुख भी हैं।

-शिव प्रताप शुक्ल उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। ये संसदीय समिति (ग्रामीण विकास) के सदस्य भी हैं।

सत्यपाल सिंह उत्तर प्रदेश के बागपत से लोकसभा सांसद हैं। इसके अलावा सत्यपाल संसदीय समिति (ऑफिस ऑफ प्रॉफिट) के सदस्य भी हैं। सत्यपाल सिंह महाराष्ट्र काडर के आईपीएस अधिकारी रह चुके हैं।

आर के सिंह बिहार के आरा से लोकसभा सांसद हैं। बिहार काडर के 1975 बैच के पूर्व आईएएस अधिकारी हैं। आरके सिंह फैमिली वेलफेयर पर बनी संसदीय समिति के मेंबर भी हैं।

-हरदीप सिंह पुरी रिसर्च एंड इंफोर्मेशन सिस्टम फॉर डेवलपिंग कंट्रीज (आरआईएस) के प्रेसिडेंट हैं। वह 1974 बैच के पूर्व आईएफएस अधिकारी हैं।

-अनंतकुमार हेगड़े कनार्टक से लोकसभा सांसद हैं। विदेश और मानव संसाधन मामलों पर बनी संसदीय समिति के सदस्य भी हैं। लोकसभा सांसद के तौर पर यह इनका 5वां कार्यकाल है। 

-गजेंद्र सिंह राजस्थान के जोधपुर से लोकसभा सांसद हैं। ये वित्तीय मामलों पर बनी संसदीय समिति के प्रमुख भी हैं। इन्हें सिंपल लाइफ के लिए जाना जाता है।

-अश्विनी चौबे बिहार के बक्सर से लोकसभा सांसद हैं। संसदीय समिति (ऊर्जा) के सदस्य भी हैं। 

-अलफोंस कन्नथनम केरल काडर के 1979 बैच के आईएएस ऑफिसर रह चुके हैं। वह डीडीए के कमीशनर भी रह चुके हैं। पेशे से वकील भी हैं।