शहाबुद्दीन ने पीएम मोदी को बताया मार्केटिंग मैन, कहा -सरकार जीरो

नई दिल्ली(18 सितंबर): 11 साल बाद जेल से रिहा होने के बाद नीतीश कुमार के खिलाफ विवादास्पद बयान देकर शहाबुद्दीन ने जहां बिहार की गठबंधन सरकार में दरार पैदा कर दी, वहीं अब उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को निशाने पर लिया है। 

- शहाबुद्दीन ने मोदी सरकार की तुलना वायपेयी की NDA सरकार से करते हुए उसने मोदी को शून्य रेटिंग दी। मोदी को दुकानदार बताते हुए शहाबुद्दीन ने कहा, 'कमजोर गठबंधन का नेतृत्व करते हुए भी वाजपेयी देश को नई ऊंचाइयों पर ले गए, लेकिन मेरे ख्याल से मोदी बहुत बुरी तरह से असफल हुए हैं। अटल जी के धुर विरोधी भी उन्हें नापसंद नहीं करते थे, वहीं मोदी को बस एक वर्ग के लोगों द्वारा पसंद किया जाता है। वह दुकानदारी वाले आदमी हैं।'

- नीतीश कुमार को परिस्थितिवश बना हुआ मुख्यमंत्री बताने के अपने बयान पर सफाई देते हुए शहाबुद्दीन ने कहा कि उसके बयान को ज्यादातर लोगों ने गलत समझा। उसने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा, 'जब नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में BJP ने चुनाव लड़ा, तो समाजवादी ताकतें उनके खिलाफ एकजुट हो गईं। ऐसे में कुछ विशेष परिस्थितियों में नीतीश मुख्यमंत्री बन गए।'

- खुद को अपराधी कहे जाने पर प्रतिक्रिया करते हुए शहाबुद्दीन ने कहा, 'कोई डॉन कहे या बाहुबली, निजी तौर पर ऐसी उपाधियों में मेरी कोई पसंद नहीं है। सीवान के लोग जिस तरह भी मुझे प्यार करते हैं, उससे मैं खुश हूं। बाहर के लोग मुझे क्या कहते हैं, इससे मुझे कोई अंतर नहीं पड़ता है।' BJP द्वारा बिहार में जंगल राज होने के आरोपों पर प्रतिक्रिया करते हुए शहाबुद्दीन ने कहा, 'कोई भी सर्वे कर ले और पता लगाए कि क्या सीवान में रहने वाला कोई भी डरा हुआ है। हर रोज सैकड़ों शुभचिंतक मुझसे मिलने आ रहे हैं। जवान लड़के और लड़कियों सुबह से लेकर देर रात तक सड़कों पर देखे जा सकते हैं। क्या यह जंगल राज के लक्षण हैं?'