इन्फोसिस में नंदन नीलेकणी की वापसी, बने नॉन एग्जिक्युटिव चेयरमैन

नई दिल्ली (25 अगस्त): इन्फोसिस के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणी की एक बार फिर इन्फोसिस में वापसी हो गई है। गुरुवार को उन्हें कंपनी का नया नॉन एग्जिक्युटिव चेयरमैन नियुक्त किया गया। सीईओ विशाल सिक्का के इस्तीफे के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी को नए मुखिया की तलाश थी। उधर, बोर्ड के मौजूदा चेयरमैन आर. शेषसायी और को-चेयरमैन रवि वेंकटेशन ने अपने-अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके अलावा मुख्य कार्यकारी अधिकारी पद से इस्तीफा देने वाले विशाल सिक्का, निदेशक मंडल के सदस्य जेफरी एस. लेहमन और जॉन एचमेंडी ने भी तत्काल प्रभाव से निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया है जिसे स्वीकार कर लिया गया है। 

नियुक्ति के बाद नंदन नीलेकणी ने कहा, 'इन्फोसिस में वापसी से मैं खुश हूं, अब नॉन एग्जिक्युटिव चेयरमैन की भूमिका में अपने क्लाइंट्स, शेयर होल्डर्स, एंप्लॉयीज व कम्युनिटीज को फायदा पहुंचाने और हमारे सामने मौजूद व्यावसायिक अवसरों के लिए बोर्ड व एग्जिक्युटिव मैनेजमेंट के सहयोगियों के साथ काम करने की दिशा में देख रहा हूं।'