मां-बहनों को बिलखता छोड़ देश के लिए मर मिटा जांबाज भूपाल सिंह

नैनीताल (28 मार्च): उत्तराखंड में नैनीताल के रहने वाले कुमाऊं रेजिमेंट के साल के जवान भूपाल सिंह के घर मातम पसरा हुआ है। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सोमवार देर आतंकियों से लोहा लेते हुए लामाचौड़ निवासी भूपाल सिंह शहीद हो गए थे। 24 साल के चार साल पहले ही सेना में भर्ती हुए थे।


शहीद के घर में मां के अलावा दो बहने भी हैं। भुपाल सिंह अपने परिवार के एकलौता चिराग थे। शहीद के पिता केशर सिंह बीमार हैं जो अस्पताल में भर्ती हैं। भूपाल सिंह के शहीद होने की खबर के बाद से ही उनके परिवार के साथ-साथ पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ है।