वावरिंका को हराकर 10वीं बार फ्रेंच ओपन के चैंपियन बने नडाल

पेरिस (10 जून): लाल बजरी के बादशाह- स्पेन के राफेल नडाल ने एक बार फिर अपनी धाक दिखाते हुए देते हुए साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन के पुरुष एकल वर्ग का खिताब जीत लिया। नडाल ने रिकार्ड 10वीं बार यह खिताब जीता है। नडाल ने फाइनल में विश्व की सर्वोच्च वरीयता प्राप्त ब्रिटेन के एंडी मरे को मात देकर आए तीसरी वरीय स्विट्जरलैंड के स्टान वावरिंका को परास्त कर खुद को रोलां गैरों का बादशाह बनाए रखा।

यह नडाल के करियर का 15वां ग्रैंड स्लेम है। अब वह पीट सैम्प्रास से आगे निकल गए हैं। अब वह केवल रोजर फेडरर के 18 ग्रैंड स्लेम से पीछे हैं।

नडाल ने वावरिंका को सीधे सेटों में 6-2, 6-3, 6-1 से मात दी। यह नडाल के करियर का 15वां ग्रैंड स्लैम खिताब है। वहीं वावरिंका अपने चौथा ग्रैंड स्लैम और दूसरा फ्रेंच ओपन खिताब जीतने से चूक गए। नडाल ने अपना पहला फ्रेंच ओपन खिताब 2005 में जीता था। वहीं इस खिताब से पहले उन्होंने 2014 मे फ्रेंच ओपन पर कब्जा जमाया था। अब दो साल बाद एक बार फिर इस ट्ऱॉफी पर कब्जा जमाया है।

वावरिंका ने 2015 में फ्रेंच ओपन खिताब जीता था। फ्रेंच ओपन में नडाल की बादशाहत का यह आलम है कि 2005 के बाद से सिर्फ 2016 में नोवाक जोकोविक, 2009 में रोजर फेडरर और 2015 में वावरिंका ही पेरिस में एकल खिताब जीत सके हैं।