बड़ा खुलासा, नाभा जेल ब्रेक की पुलिस को पहले से थी जानकारी

पटियाला (15 फरवरी): पटियाला के नाभा जेल ब्रेक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि पंजाब पुलिस अधिकारियों को पहले से पता था कि नाभा जेल में बंद कुछ गैंगस्टर्स को छुड़वाने की कोशिश की जा सकती है। यह घटना होने से करीब पांच महीने पहले ही पंजाब पुलिस को इस बारे में जानकारी मिल चुकी थी।

3 जून 2016 को दर्ज हुई एक FIR में इसका जिक्र किया गया था। इसके बावजूद पुलिस ने जेल की सुरक्षा नहीं बढ़ाई। दरअसल पुलिस ने गैंगस्टर्स के सहयोगी हरमिंदर सिंह रोमी और उसके तीन सहयोगियों को नाभा जेल के आसपास देखा था। इसके बाद ही यह FIR दर्ज की गई थी। कोतवाली पुलिस थाना नाभा जेल से करीब 1 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। FIR में यह भी लिखा गया कि इस बारे में जिला पुलिस मुख्यालय को वायरलेस पर सूचना दे दी गई है। साथ ही, रिपोर्ट की एक कॉपी इलाके के मैजिस्ट्रेट को भी भेजने की बात FIR में दर्ज है।

आपको बता दें कि 27 नवंबर 2016 को गैंगस्टर गुरप्रीत सेखोन और 4 अन्य अपराधी एक कथित खालिस्तानी आतंकवादी हरमिंदर मिंटू के साथ जेल से भाग गए थे। उनके सहयोगियों ने जेल में घुसकर उन्हें भगाया।