पकड़ा गया नाभा जेल ब्रेक कांड का आरोपी, खलिस्तान की स्पेशल आर्मी का है कमाण्डर

नई दिल्ली ( 18 जनवरी ): पंजाब के नाभा जेल ब्रेक कांड के पांच लाख रपये के इनामी आरोपी और उसके एक साथी को मध्यप्रदेश पुलिस ने मंगलवार रात को इंदौर से गिरफ्तार किया।

पुलिस उप महानिरीक्षक हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया कि खजराना क्षेत्र में संदिग्ध लोगों से पूछताछ के अभियान के दौरान कुलप्रीत सिंह देवल उर्फ नीटा और उसके साथी सुनील कालरा उर्फ शैल्ला को एक रहवासी अपार्टमेंट के फ्लैट से पकड़ा गया। उनके कब्जे से आठ मोबाइल, एक लैपटॉप और 92,000 रपये की नकदी बरामद की गयी है।

उन्होंने बताया कि देवल नाभा जेल ब्रेक कांड के आरोपियों में शामिल है और उसकी गिरफ्तारी पर पांच लाख रपये का इनाम घोषित किया गया था। उसका साथी कालरा पंजाब में हत्या, लूट और अन्य संगीन आपराधिक मामलों का आरोपी है। मिश्रा ने बताया कि दोनों आरोपी पुलिस बचने के लिए सार्वजनिक यातायात के साधनों से युपी के आगरा, मथुरा होते हउए पिछले दिनों इंदौर पहुंचे थे और खजराना क्षेत्र में किराये पर फ्लैट लेकर रह रहे थे। उन्होंने बताया कि देवल और कालरा की गिरफ्तारी के बारे में पंजाब पुलिस को सूचना दे दी गयी है। जैसे ही पंजाब पुलिस का दल इंदौर पहुंच चुकी है, दोनों आरोपियों को उसे सौंप दिया गया है। दोनों आरोपियों से विस्तृत पूछताछ जारी है।

इंदौर पुलिस की पुछताछ में अभी तक पता चला है कि नीटा खलिस्तान की स्पेशल आर्मी का कमाण्डर है और उसकी अगुवाई में आतंकियों का एक बड़ा जत्था काम करता हैं। उसे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई मदद करती थी। उसके दुबई जाने का बंदोबस्त भी इसी कड़ी का हिस्सा है। नीटा को खर्च के लिए पैसे दिल्ली और पंजाब से मिल रहे थे। कोर्ट में हाजिर किए गए नीटा का ट्रांजिक्ट वारंट मिलने पर पंजाब पुलिस उसे पूछताछ के लिए साथ ले जा रही है।