तानसेन की तान से झुक गया था यह मंदिर

नई दिल्‍ली (6 फरवरी): क्या आपने कभी सुना है कि किसी की आवाज़ से कोई इमारत हिल जाए। क्या आप सोच सकते हैं कि किसी के गाने से पत्थर और कॉन्क्रीट से बना मंदिर हिल जाए, लेकिन ये सबकुछ हुआ आज से 500 साल पहले। वो राज़ 15वीं शताब्दी का है, जब अकबर के महल के नौरत्नों में से एक तानसेन की तान से एक मंदिर झुक गया।

तानसेन को दुनिया का सबसे बड़ा संगीत सम्राट कहा जाता है। अकबर के दरबार में नौरत्नों में से वो पहले नंबर पर थे, लेकिन ऐसा माना जाता है कि 6 साल की उम्र में ही तानसेन के साथ एक ऐसी अनोखी घटना घटी थी जिसने भगवान शिव के मंदिर को हिलाकर रख दिया।

तानसेन से जुड़ी ऐसी कहानियां हैं जिस पर यकीन करना बहुत मुश्किल है। कुदरत भी उनके संगीत के सामने झुक जाती थी। तानसेन भले ही हिंदुस्तान के लिए एक बेशुमार अमानत हों, लेकिन उनके गांव में फैली बदइंतज़ामी ज़रूर कहती है कि सरकार ने भारत की इस अमूल्य देन पर ध्यान नहीं दिया।

देखिए रिपोर्ट:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=vquSLS3SFF8[/embed]