14 हजार फीट की ऊंचाई उड़ते जहाज़ में धमाका, आतंकी हमले की आशंका

 नई दिल्ली (3 फरवरी): सोमालिया की राजधानी मोगादिशू से जिबोती जा रहे 'डालो एयरलाइंस' के जहाज में विस्फोट हो गया। बीच आसमान में हुए विस्फोट को आतंकवादी कार्रवाई माना जा रहा है। विमान में विस्फोट से दाहिनी तरफ डैने के ऊपर छह फीट का बड़ा छेद हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक विस्फोट के साथ ही एक साठ साल के यात्रि की बॉडी विमान के छेद से जमीन की ओर उछल गयी। उस यात्री के शरीर से आग की लपटें निकल रही थीं। जिस समय विमान में विस्फोट हुआ उस वक्त विमान 14 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था।

विस्फोट के बाद विमान में हवा का दबाव कम हो गया था और यात्रियों को ऑक्सीजन मास्क लगाने पड़े थे। इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी विमान के क्रू ने हिम्मत नहीं हारी और पायलट ने मोगादिशु एयरपोर्ट पर जहाज को सुरक्षित उतार दिया। अमेरिकन नेशनल ट्रांस्पोर्ट सेफ्टी बोर्ड के पूर्व मेंबर जॉन गोजिला ने भी कहा है कि जहाज में ऐसी दुर्घटना बम धमाके से ही संभव है।

उन्होंने कहा कि कभी-कभी विमान के अंदर का प्रेशर असंतुलित होने परभी ऐसी दुर्घटना की आशंका होती है, मगर डालो एयरलाइंस का विमान प्रेशर असंतुलन की सीमा से ऊपर जा चुका था। उन्होंने कहा कि यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा कि विमान के अंदर विस्फोट कैसे हुआ, लेकिन अनुभव यह बताता है कि यह धमाक किसी 'डिवाइस' से कराया गया है। जलते हुए यात्री का शरीर विमान में हुए छेद से बाहर उछल जाना इसका एक सुबूत भी है।