आज भी रहस्य बना हुआ है ये शिवलिंग, दिन में 3 बार बदलता है रंग

नई दिल्ली (22 फरवरी): शुक्रवार को महाशिवरात्रि है और इस दिन भक्त भगवान भोले शंकर को जल चढ़ाने के सुबह से ही मंदिरों में पहुंच जाते हैं। भारत के कोने-कोने में भगवान शिव के एक से बढ़कर एक मंदिर हैं। लेकिन अभी भी देश में भोले शंकर के कुछ मंदिर ऐसे भी हैं जो आजतक रहस्य बने हुए हैं।

अधिकांश मंदिरों के पीछे कोई न कोई रहस्य और उसकी ऐतिहासिकता है। हम बता रहे हैं राजस्थान के धौलपुर में स्थित एक ऐसे ही शिव मंदिर के बारे में जहां का रहस्य वैज्ञानिक तक नहीं सुलझा पाए हैं।

जानिए इस मंदिर की पूरी कहानी…

- धौलपुर जिले के बीहड़ों में स्थित अचलेश्वर महादेव जी का मंदिर है। इस मंदिर में शिवलिंग दिन में 3 बार अपना रंग बदलता है। शिवलिंग का रंग दिन में लाल, दोपहर को केसरिया और रात को सांवला हो जाता है।

- शिवलिंग के रंग बदलने के पीछे क्या वजह है इसका जवाब अब तक किसी वैज्ञानिक को नहीं मिल सका है।

- कई बार मंदिर में रिसर्च टीमें आकर जांच-पड़ताल कर चुकी हैं। फिर भी इस चमत्कारी शिवलिंग के रहस्य से पर्दा नहीं उठ सका है।

यहां आने पर हो जाती है शादी...

- चमत्कारी शिवलिंग के विषय में ऐसा माना जाता है कि जो भी कुंवारा या कुंवारी यहां शादी से पहले मन्नत मांगने आते हैं तो बहुत जल्दी उनकी मुराद पूरी हो जाती है।

- यहां शिवजी की कृपा से लड़कियों को मनचाहा वर भी मिल जाता है।

- यहां के लोग बताते हैं कि ऐसे लाखों लोग हैं जिनकी शादी नहीं हो रही थी, लेकिन मंदिर में शिवलिंग की पूजा करते ही उनकी शादी हो गई।