पाकिस्तान में मौजूद हैं 3 'जादू', सूरज के पास है इनका 'रिमोट कंट्रोल'

कराची (6 मई) :  'कोई मिल गया'  फिल्म का एलियन 'जादू'  आपको याद होगा। वो 'जादू' जिसे अपने लिए सारी ऊर्जा धूप से मिलती है। पाकिस्तान में हक़ीक़त में ही ऐसे तीन 'जादू' मौजूद हैं जो बेशक धरती के ही प्राणी हैं लेकिन इनके सक्रिय रहने की चाबी सूरज देवता के पास ही मौजूद लगती है।

पाकिस्तान के क्वेटा शहर से 15 किलोमीटर दूर मियां कुंडी गांव में तीन सगे भाईयों की कहानी 'जादू'  से ही मिलती जुलती है। इन भाईयों के नाम हैं- शोएब, रशीद और इलियास हाशमी। इनकी उम्र 1 साल, 9 साल और 13 साल है। इन बच्चों को गांव में 'सोलर किड्स' के नाम से जाना जाता है। ये तीनों बच्चे

दिन की रोशनी में पूरी तरह सक्रिय रहते हैं। सूरज के ढलने के साथ ही तीनों बिल्कुल निढाल हो जाते हैं। ये इतने निष्क्रिय हो जाते हैं कि हाथ-पैर तक नहीं हिला ढुला सकते। तीनों भाईयों को पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ (पीआईएमएस) में टेस्ट और इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इस रहस्यमयी बीमारी को लेकर मेडिकल जगत भी हैरान है। लेकिन अभी तक इसे डायग्नोज़ नहीं किया जा सका है।

बच्चों की बीमारी को लेकर एक नौ सदस्यीय बोर्ड का गठन किया गया है। इस बोर्ड ने बच्चों के टेस्ट और ब्लड सैंपल लिए और उनकी रिपोर्ट इंटरनेशनल मेडिकल फ्रेटिनिटी को भेजी हैं। इस मामले में मायो क्लिनिक, जॉन हॉपकिंस मेडिकल इंस्टीट्यूट और यूएस एंड गायज़ हास्पिटल, लंदन सहयोग कर रहे हैं।

शुरुआती जांच में इस बीमारी के मैस्थीनिया सिंड्रोम होने के संकेत मिल रहे हैं। ये बीमारी बहुत दुर्लभ है। अब तक पूरी दुनिया में ऐसे 600 मामले ही रिपोर्ट हुए हैं।