यहां से कोई नहीं लौटता जिंदा, गायब हो जाते हैं हवाई जहाज

नई दिल्ली (16 सितंबर): दुनिया में अभी तक ऐसी बहुत ही जगह हैं जो रहस्यमयी बनी हुई है। ऐसी ही एक जगह है बरमूडा ट्राएंगल, जिसके बारे में पहले भी काफी कुछ लिखा जा चुका है। 'डेविल्स ट्राएंगल' के नाम से बदनाम इस जगह पर कोई भी जाना नहीं चाहता।

अटलांटिक ओशन में बसे बरमूडा ट्राएंगल अपने रहस्यों की वजह से मशहूर है। आज तक कई ऐरोप्लेन्स, जहाज और नांव बरमूडा ट्राएंगल से गुजरते हुए या तो गायब हो गए और अगर दोबारा मिले भी तो उनके क्रू मेंबर्स का कभी पता नहीं चल पाया। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं बरमूडा ट्राएंगल से जुड़े रहस्य जिनका जवाब किसी के भी पास नहीं है।

सैकड़ों लोगों की जा चुकी है जान... 1: अब डेंजर जोन में शामिल बरमूडा ट्राएंगल में बीते 100 सालों के अंदर हजारों लोगों ने अपनी जान गंवाई है। एक आंकड़े में यह तथ्य सामने आया है कि यहां हर साल औसतन 4 हवाई जहाज़ और 20 समुद्री जहाज़ रहस्यमयी तरीके से गायब होते हैं।

2: जब भी यहां से कोई जहाज या प्लेन गायब होता है तो उसका मलबा नहीं मिलता। इसके लिए गल्फ स्ट्रीम जिम्मेदार हो सकती है। यह गल्फ स्ट्रीम मैक्सिको की खाड़ी से निकलकर फ्लोरिडा के जलडमरू से उत्तरी अटलांटिक तक फैली हैं, जो अपने साथ सारा मलबा उठा ले जाती होगी। यह गल्फ स्ट्रीम असल में समुद्र के अंदर नदी की तरह होती हैं। इसका बहाव काफी तेज होता है जिसकी वजह से एक्सीडेंट्स हो जाते होंगे।

3: अमेरिकी भौगोलिक सवेक्षण के अनुसार बरमूडा ट्राइंगल के नीचे ‘मीथेन हाइड्रेट’ नाम के केमिकल का विशाल भंडार मौजूद है। समुद्र में बनने वाला यह हाइड्रा इट जब अचानक फटता है, तो अपने आसपास की सभी चीजों को चपेट में ले लेता है। ऐसे में कई वैज्ञानिकों का मानना है कि जब भी यह हाइड्रेट फटता है, तो इससे उठने वाले बुलबुले पानी की डेंसिटी कम कर देते हैं जिससे जहाज डूब जाते हैं।

4: बरमूडा ट्राइंगल को एलियंस का घर माना जाता है। कहा जाता है कि इस जगह पर रहते हुए एलियंस अपने प्लेनेट से भी जुड़े रहते हैं। इस वजह से यहां इतनी दुर्घटनाएं होती हैं। कुछ लोगों का ये भी कहना है कि इस क्षेत्र में टाइम जोन पर रिसर्च के लिए अमेरिका की एक बहुत बड़ी गोपनीय प्रयोगशाला है, जहां एलियन से जुड़ी रिसर्च की जाती हैं।

5: बरमूडा ट्राइंगल में डायरेक्शन्स बताने वाले कम्पास काम करना बंद कर देते हैं। जिसकी वजह से यहां डायरेक्शन्स को लेकर लोग काफी कंफ्यूज हो जाते हैं। इस जगह से गायब हुए कई लोगों के रिकॉर्ड किये लास्ट वर्ड कम्पास के काम ना करने की जानकारी देते हैं। कुछ लोगों का मानना है कि यहां रहने वाले एलियंस की वजह से कम्पास काम करना बंद कर देते हैं।

6: यहां से गुजरे कुछ लोगों का कहना है कि यहां बादलों का सुरंग है, जिसके अंदर प्लेन का रडार काम करना बन्द देता है। इसके अंदर फंसने के बाद बाहर की दुनिया से कॉन्टैक्ट खत्म हो जाता है। कुछ लोग इसे इलेक्ट्रॉनिक फॉग कहते हैं। ये फॉग समुद्र से उठते हुए आसमान तक बवंडर का रूप ले लेता है।

7: कई लोगों का मानना है कि बरमूडा ट्राइंगल जैसी कोई जगह है ही नहीं। हो सकता है कि ये सिर्फ सुनी सुनाई बातों के आधार पर बनाई कहानियों की उपज हो। ऐसा भी कहा जाता है कि समुद्री लुटेरों ने इस तरह की कहानियां फैलाई होंगी ताकि वो आराम से जहाजों में लूटपात करते रहें और किसी को उनपर शक ना हो।