बिहार में संदिग्ध हालात में दारोगा की मौत

सन्नी पवन, मुजफ्फरपुर (2 जुलाई): बिहार के मुजफ्फरपुर में एक दारोगा की संदिग्ध हालत में मौत हो गई है। फिलहाल ये साफ नहीं है कि दारोगा ने खुदकुशी की है या फिर किसी साजिश के तहत उनकी हत्या की गई है। बताया जा रहा है कि दारोगा संजय गौड़ तनाव में खुद को गोली मार कर आत्महत्या की। थाने में तैनात दारोगा ने अपने क्वार्टर में ही सुसाइड की घटना को अंजाम दिया। गोली लगने के बाद उन्हें इलाज के लिए एसकेएमसीएच में लाया गया लेकिन इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई।


जानकारी के मुताबिक रविवार की सुबह वो अपने आवास पर थे इस दौरान उन्होंने खुद को शूट कर लिया। गोली की आवाज सुनते ही सिपाही मौके पर पहुंचे। घायल संजय को तुरंत मुजफ्फरपुर एसकेएमसीएच इलाज के लिए भेजा गया जहां उनकी मौत हो गई। संजय 2009 बैच के दारोगा थे कुछ दिन पहले ही संजय का गायघाट से पानापुर ओपी में ट्रांसफर हुआ था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक वो हाल के दिनों में हुए कई तबादलों से काफी परेशान थे जिस कारण उन्होंने ये कदम उठाया।


फिलहाल पुलिस हर बिंदु पर मामले की छानबीन में जुटी है और घटना के कारणों का पता लगा रही है।  एसएसपी विवेक कुमार ने एसकेएमसीएच पहुंचकर स्वयं जांच पड़ताल की और कहा की प्रथम दृष्ट्या जो पता चला है की उसके आधार पर साथी के पिस्टल से इसने आत्महत्या कर ली है। फोरेंसिक जांच कराने के साथ साथ मजिस्ट्रेट इन्वेस्टीगेट के साथ साथ मजिस्ट्रेट की उपस्थ्ति में ही पोस्टर्मार्टम करवाई जायेगी। फाइनल जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की करवाई की जाएगी। वहीं खुद की सरकारी पिस्टल रहते अपने साथी की पिस्टल से आत्महत्या करने की घटना ने मामले को संदेहास्पद बना दिया है।