बालिका गृह में रोज सजती थी ब्रजेश ठाकुर की महफिल, बच्चियों को ब्लू फिल्म दिखाकर किया जाता था रेप

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 जनवरी): बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में CBI ने मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर सहित 21 आरोपियों के खिलाफ विशेष पॉक्सो कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में गंभीर आरोप लगाए हैं। न्यूज 24 के पास मौजूद चार्जशीट की कॉपी के मुताबिक मुजफ्फरपुर बालिका गृह में नाबालिग बच्चियों को छोटे छोटे कपड़े पहनाकर अश्लील गानों पर डांस के लिए मजबूर करते और इनकार करने पर उन्हें मारा पीटा जाता था। 

लड़कियों को ब्लू फिल्में भी दिखाई जाती थी। इसके बाद नशे का इंजेक्शन और दवा देकर दुष्कर्म किया जाता था। विरोध करने वाली किशोरियों को कुर्सी से बांधकर हवस का शिकार बनाया जाता था। चार्जशीट में इस बात का साफ जिक्र है कि बालिका गृह में रोज ब्रजेश ठाकुर की महफिल सजती थी। ब्रजेश के अलावा शेल्टर होम के कर्मचारी और सीडब्ल्यूसी के सदस्य सहित अन्य लोग रात में पहुंचते थे। चार्जशीट में 33 बच्चियों समेत 102 लोगों की गवाही दर्ज है।

चार्जशीट में ब्रजेश ठाकुर, इंदू कुमारी, मीनू देवी, मंजू देवी, चंदा देवी, नेहा कुमारी, हेमा मसीह, किरण कुमारी, रवि कुमार रोशन, विकास कुमार, दिलीप कुमार वर्मा, विजय कुमार तिवारी, गुड्डू कुमार पटेल उर्फ गुड्डू, कृष्ण कुमार राम उर्फ कृष्णा, रोजी रानी, रामानुज ठाकुर उर्फ मामू, रामाशंकर सिंह उर्फ मास्टर साहब उर्फ मास्टर जी, डॉ. अश्विनी उर्फ आसमनी, विक्की, साइस्ता परवीन उर्फ मधु व डॉ. प्रमीला का नाम शामिल है। 

सीबीआइ के एसपी देवेंद्र सिंह की ओर से बीते दिसंबर महीने में विशेष पॉक्सो कोर्ट में सभी 21 आरोपियों के विरुद्ध चार्जशीट दाखिल की गई थी। सभी को धारा 323, 325, 341, 354, 376-सी और 34 एवं पॉक्सो एक्ट 2012 की धारा 04, 06, 08, 10, 12 और 17 के तहत आरोपित किया गया है। आरोपों के समर्थन के लिए सीबीआइ ने 102 गवाहों के साक्ष्य लिए हैं। इसमें बालिका गृह की पीड़ित 33 लड़कियां भी शामिल हैं।

चार्जशीट के कवर पन्ने पर सीबीआई ने स्पष्ट कर दिया है कि बयान देने वाली किशोरियों का नाम चार्जशीट में नहीं खोला गया है। इनके नाम और केस स्टडी बंद लिफाफे में कोर्ट में दिया गया है। ताकि किशोरियों की गोपनीयता बनी रहे। आपको बता दें कि बीते 19 दिसंबर को सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी।  पूरी चार्जशीट की कॉपी न्यूज 24 के पास है।  इसमें 33 बच्चियों समेत 102 लोगों की गवाही दर्ज है।

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये रिपोर्ट...