बुरहान वानी को लेकर हुआ बहुत बड़ा खुलासा

नई दिल्ली(26 सितंबर): कश्मीर में एनकाउंटर में मारा गया हिजबुल मुजाहिद्दीन का आतंकी बुरहान वानी के पिता मुजफ्फर वानी ने कहा है कि पहले इंडियन आर्मी जॉइन करने का ख्वाब देखता था और परवेज रसूल की तरह क्रिकेट खेला करता था। 

- बता दें 8 जुलाई को बुरहान वानी के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद से कश्मीर में तनाव का माहौल है। रविवार को ही कश्मीर के सभी हिस्सों से कर्फ्यू हटाया गया है।

- एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में मुजफ्फर वानी ने बताया कि 5 अक्टूबर 2010 को उसने घर छोड़ दिया था। उसके एनकाउंटर से 2 महीने पहले उन्होंने बुरहान को मनाने की काफी कोशिश की कि वह घर आ जाए, लेकिन वह नहीं माना। मुजफ्फर बताते हैं कि बुरहान 1994 में पैदा हुआ था, इसलिए उसने अपने बचपन में घाटी में सबसे ज्यादा अस्थिरता देखी थी। ऐसे में उसका वह दर्द महसूस करना स्वाभाविक था।

- मुजफ्फर आगे बताते हैं कि बुरहान जब 10 साल का था, तब उसने भारतीय सेना के एक जवान को बताया था कि वह आर्मी जॉइन करना चाहता है। यह ख्वाहिश उसने तब जाहिर की थी, जब वह उनके गांव में मिलिटेंट्स को ढूंढ़ने के लिए सेना सर्च ऑपरेशन चला रही थी। बुरहान को आर्मी की वर्दी बहुत पसंद थी। उसे क्रिकेट से भी प्यार था, और वह भारत के लिए खेलना पसंद करता, न कि पाकिस्तान के लिए।