"जम्मू-कश्मीर के लोग आजादी नहीं स्वायत्तता की करते हैं मांग"

नई दिल्ली (28 अक्टूबर): एक बार फिर पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी.चिदंबरम के एक बयान पर विवाद हो सकता है। उन्होंने इस बार फिर जम्मू-कश्मीर की स्वायत्तता की मांग को जायज ठहराया है।  

चिदंबरम ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में क्षेत्रीय स्वायत्तता देने के बारे में विचार करना चाहिए। स्वायत्तता देने के बावजूद वे भारत का ही हिस्सा रहेंगे। गुजरात के राजकोट में एक कार्यक्रम में पहुंचे चिदंबरम ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर के लोगों से मेरी बातचीत के जरिए मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा हूं कि जब भी वे आजादी की मांग करते हैं तो दरअसल, इसमें ज्यादातर लोगों की आजादी का मतलब स्वायत्तता से होता है।'

वहीं गुजरात में कांग्रेस के राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता अहमद पटेल पर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए चिदंबरम ने कहा कि अगर कोई किसी हॉस्पिटल में कर्मचारी है और उसके बाद उसके आईएस (आतंकी संगठन) से संबंध हो जाते हैं, तो इसके लिए उस हॉस्पिटल में तीन साल पहले ट्रस्टी रहा इंसान कैसे दोषी हो सकता है ?