मुलायम के घर में मुसलमानों ने किया आरएएस का फूलों से स्वागत

नई दिल्ली (9 जून): उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रदेश की राजनीति करवट लेने लगी है। सपा के मुख्य वोट स्रोतों में से एक मुसलमान भाजपा की ओर रूख करते नजर आ रहे हैं। राजनीति के मंझे हुए खिलाड़ी मुलायम सिंह यादव ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उनके जिले में आरएसएस के कार्यकर्ताओं का ऐसा जोरदार स्वागत मुसलमान करेंगे। आरएसएस के पथ संचालन ने इटावा के राजकीय इंटर कालेज मैदान से शुरू होकर शहर भर में भ्रमण किया। इससे पहले अजमेेर और भोपाल के मुसलमान समुदाय के लोग इसी तरह आरएसएस के पथ संचालन का फूलों से स्वागत कर चुके हैं। 

इटावा के  पुल कहारन के करीब नगर पालिका परिषद के सभासद मोहम्मद अनीस और उनके मोहल्ले के सैकडों लोगों ने आरएसएस के सभी सदस्यों का जोरदार स्वागत किया। दरअसल, नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही देश भर के विभिन्न हिस्सों से आरएसएस को मुसलमानों का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। हालांकि मुलायम सिंह यादव के गृह नगर में आरएसएस कार्यकर्ताओं का स्वागत उनके लिए खतरे की घंटी है। जिस सभासद मोहम्मद अनीस ने आरएसएस सदस्यों का स्वागत किया वे समाजवादी पार्टी के कट्टर समर्थकों में से एक माने जाते हैं।

 अनीस ने कहा कि अभी यह हमारे मेहमान हैं। चूंकि इनका इटावा मे कैंप था और मेहमानों का स्वागत करना हमारे धर्म में लिखा हुआ है, इसलिए हमने उनका स्वागत करके अपने आप को गौरांवित महसूस किया।  राजनीतिक गलियारों में इसे इटावा में संघ की दस्तक के रूप में भी देखा जा रहा है।  इस शिक्षा वर्ग में 20 जिलों के 450 शिक्षार्थी व शिक्षक शामिल हो रहे हैं। शिक्षा वर्ग में शिक्षाथिर्यों को बौद्धिक स्तर सुधारने के साथ शारीरिक स्तर सुधारने के गुर सिखाए जा रहे हैं।