मुस्लिम महिलाओं ने दिवाली पर की श्रीराम की पूजा, भारतीय सेना के लिए की शक्ति की कामना

नई दिल्ली ( 30 अक्टूबर ) : दीपावली का पर्व देश में मनाया जा रहा है। इस मौके पर वाराणसी के वरुणानगरम कॉलोनी में विशाल भारत संस्‍थान में मुस्लिम महिलाओं ने भगवान श्री राम की पूजा कर दीप जलाए। सभी ने भगवान राम से भारतीय सेना के लिए शक्ति और दुश्मनों के खात्मे की कामना की। मुस्लिम म‍हिलाओं का मानना है कि भगवान श्रीराम के अयोध्या वापस लौटने पर सभी ने खुशियां मनाई थी। 

नफरत के नाम को राम से ही मिटाया जा सकता है। हनुमान चालीसा फेम नाजनीन अंसारी द्वारा अनुवाद किया उर्दू में लिखे राम की आरती को भी सभी ने गाया। देश में कोई भूखा न रहे, इसलिए अनाज बैंक से अनाज वितरण किया गया।

- मुस्लिम महिला फाउंडेशन नेशनल सदर नाजनीन ने बताया की रावण का वध कर श्री राम ने अधर्म पर धर्म की विजय प्राप्ति की थी।  - हिंदुस्तानी सभ्यता संस्कृति और एकता का इससे अच्छा शंदेश कोई और नहीं हो सकता।  - सांप्रदायिक एकता का सन्देश राम आरती के जरिये दिया गया हैं।  - संसथान के संस्थापक डा राजीव श्रीवास्तव ने बताया त्यौहार के इस अवसर पर संस्थान की तरफ से श्रीराम महाआरती के बाद अन्न वितरण भी किया गया।  - नफरत की जो खाई समाज में है ,आज का सन्देश उसे पाटने का काम करेगा।  - भगवान राम के त्याग से सभी को सिख लेना चाहिए। - शबाना ने बताया इंसानों का बटवारा चंद लोगो ने किया है।  - हमें आरती करके फक्र है कि हमने दुनियां को बताया है कि हम हिन्दू मुस्लिम से पहले भारतीय है।  - डॉ. हेमंत गुप्ता ने बताया सरहदों पर पडोसी मुल्क भले ही दीवार खड़ी कर रहा हो ,मुस्लिम महिलाओं ने दहशत गर्दों करारा जबाब दिया है।