मुरथल गैंगरेप के चश्‍मदीद गवाह पर हुआ हमला

मोहित मल्होत्रा, चंडीगढ़ (18 अप्रैल): मुरथल में कथित तौर पर 10 महिलाओं के साथ हुए सामूहिक बलात्कार की घटना के चश्मदीद गवाह बॉबी जोशी पर दो अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया। ये हमला शनिवार को हरियाणा के करनाल में हुआ। हालांकि इस मामले में उन्हें कोई चोट नहीं आई है। गवाह बॉबी जोशी ने हरियाणा पुलिस से मदद की अपील की है।

आंदोलन के दौरान 10 महिलाओं के साथ प्रदर्शनकारियों ने हैवानियत भरा सुलूक किया। इस पूरे मामले ने हड़कंप मचा दिया और फिर सामने आया इस घटना का इकलौता चश्मदीद बॉबी जोशी। अब बॉबी जोशी पर इस केस में सामने आने पर हमला हुआ है। बॉबी जोशी ने कहा 2 लोगों ने ईंट से उनकी कार पर हमला किया और धमकी भी दी। बॉबी जोशी पर हमले से पहले उन्हें लगातार धमकियां भी मिल रही थी। कुछ दिन पहले ही न्यूज़ 24 से बातचीत में भी बॉबी जोशी ने बताया था कि 2 लड़कों ने उन्हें फोन पर इस केस से दूर रहने की धमकी दी थी।

जाट आंदोलन के दौरान मुरथल में गैंगरेप के आरोप लगे थे। बॉबी ने ढाबे पर महिलाओं के साथ हुई हैवानियत का खुलासा किया था। बॉबी जोशी आज भी उस दिन की हैवानियत याद करके घबरा जाते हैं। बॉबी के बयान में इसलिए भी दम नजर आता है क्‍योंकि जो आंखों देखी बॉबी बयां कर रहे हैं, वही बातें आस्ट्रेलिया की एनआरआई महिला और अपनी ईमेल में खुद को गैंगरेप का शिकार बताने वाली दो लड़कियां भी हरियाणा पुलिस को चिट्ठी में लिख चुकी हैं। बॉबी ने कहा है कि जान से मारने की धमकी मिलने के बावजूद वह डरे नहीं हैं। उनके अलावा एक और महिला ने वो सब देखा है, जो उस दिन हुआ था। अब बॉबी चाहते हैं कि जिनके साथ ये हुआ है, उन्हें सामने आना चाहिए।

आपको बता दें कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कथित तौर पर 22 फरवरी को मुरथल में गैंगरेप हुए थे। करीब 10 महिलाओं पर 40 से ज़्यादा आंदोलनकारियों ने कथित तौर पर रेप किया। महिलाओं की फटे हुए कपड़ों में कई फोटो वायरल भी हुई थीं। हालांकि तब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने ऐसी सभी रिपोर्ट्स को मानने से इनकार कर दिया था।

सरकार ने हाईकोर्ट को बताया कि बॉबी जोशी की तरफ से 30 मार्च को शिकायत की गई थी। इसे आधार बनाकर जो एफआईआर दर्ज की गई है, उसमें एक सेक्शन गैंगरेप का भी है। इस मामले की अगली सुनवाई 4 मई को होगी। इस तारीख में हाइकोर्ट ने हरियाणा पुलिस की एसआईटी से जांच की स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। वहीं अब बॉबी जोशी पर हमले के बाद साफ हो गया है कि इस मामले को कई लोग दबाने की कोशिश में लगे हैं।