कैदी ने पहरे में पूरी की पुलिस भर्ती की दौड़

कुरुक्षेत्र (16 जून): सुबह करीब 8 बजे तीन पुलिकर्मी हथकड़ी लगाए अंडर ट्रायल कैदी को लेकर उमरी रोड पहुंचे। पुलिसवालों ने हथकड़ी खोल दी और कैदी भागने लगा। दरअसल, यह कैदी पुलिस भर्ती के फिजिकल टेस्ट में हिस्सा ले रहा था।

हत्या की कोशिश के केस में धारा-307 के तहत करीब सवा माह से सोनीपत जेल में बंद जितेंद्र पुलिस भर्ती की फिजिकल स्क्रीनिंग में भाग लेने आया था। आगे दो राइडर दस्ते और पीछे एक पीसीआर थी। ऐसी सिक्युरिटी में जितेंद्र ने 23 मिनट में 5 किलोमीटर की दौड़ की। उसने अगले फेज के लिए क्वालिफाई कर लिया है। जितेंद्र के पिता सुरेंद्र सिंह भी हरियाणा पुलिस में थे। जितेंद्र ने जेल एडमिनिस्ट्रेशन से परमिशन लेकर अप्लाई किया था।

भर्ती में शामिल सोनीपत के धनाना गांव के 23 साल का जितेंद्र भी कैंडिडेट था। उससे एसपी सिमरदीप सिंह ने पहले पूछताछ की। फिर इस चेतावनी के साथ दौड़ की इजाजत दी कि भागने की कोशिश की तो पुलिस गोली भी चला सकती है। लिहाजा ऐसी कोई हरकत न करे। पुलिस ने उसकी रनिंग की वीडियोग्राफी भी कराई।

जितेंद्र इकलौता ऐसा कैंडिडेट था, जो हत्या की कोशिश के मामले में जेल में बंद है। उसका मामला अभी अंडर ट्रायल है। दोषी व्यक्ति सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई नहीं कर सकता। जितेंद्र पर यदि दोष साबित होगा, तो वह इनएलिजिबल घोषित हो जाएगा। अंडर ट्रायल होने के चलते उसे भर्ती प्रक्रिया में हिस्सा लेने की अनुमति मिली है। सारे टेस्ट क्लीयर करके अगर जितेंद्र मेरिट में जगह बनाता है तो कानूनी सलाह के आधार पर उसकी नियुक्ति संबंधी फैसला लिया जाएगा।