2000 का नकली नोट छाप खरीदते थे बीयर, पकड़े गए

मुंबई (28 जनवरी): जब से 500 और 2000 रुपये के नए नोट बाजार में आए हैं, तभी से इनके नकली नोट भी पकड़े जा रहे हैं। अब एक ऐसा ही मामला मुंबई के भयंदर में सामने आया है, जहां पर पुलिस ने 2000 रुपए के नोटों की फोटोकॉपी करने के मामले में दो रियल स्टेट कारोबारियों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि अब इन्होंने जितने भी जाली नोट छापे है, उनमें से ज्यादातर को उन्होंने बियर खरीदने में चलाया है। 500 और 1000 रुपए के बड़े नोटों को बंद किए जाने के बाद 10 नवंबर को आरबीआई की ओर से 2000 रुपए के नए नोटों को जारी किया गया था। पुलिस ने फेक करेंसी छापने वालों के पास से फोटोकॉपी करने में इस्तेमाल होने वाला स्कैनर और प्रिंटर बरामद किया है।

दोनों आरोपियों की पहचान राजेंद्र तकवले और चेतन पाटिल के रूप में हुई है। नकली नोटों के बारे में जानकारी मिलने पर पुलिस ने ओम श्री रियल स्टेट ऑफिस में छापा मारा था। उन्होंने पुलिस को बताया कि आरोपी अब तक 2000 के नोट की 40 फोटोकॉपियों को चला चुके हैं, जिनका अधिकतर इस्तेमाल बार और दुकान से बियर खरीदने में हुआ। पुलिस ने उनके पास से प्रिटिंग में यूज होने वाले पेपर भी सीज किया है। यही नहीं पुलिस को दोनों के पास से 2000 रुपए के 32 नोट भी बरामद हुआ हैं।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने पहले कुछ नोट छापने से शुरुआत की और बिना किसी शक पैदा हुए चलाए जाने के बाद उन्होंने बड़े पैमाने पर नोट छापे। पुलिस ने दोनों पर आईपीसी की धारा 489 (a) और (b) (जाली नोट छापना) तथा धोखाधड़ी (धारा 420) के तहत मामला दर्ज किया है। आरोपियों को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।