मुबंई: छात्रों को शिक्षकों ने दी अनोखी सजा, उस्तरा से काट दिए बाल

विनोद जगदाले, मुबई (1 जुलाई): अभी तक आपने सुना होगा पढ़ाई न करने पर शिक्षक छात्रों को सजा देते हैं। छात्रों को शिक्षक सजा के तौर पर क्लास बाहर कर दते हैं, खड़ा कर देते हैं। लेकिन मुंबई के एक स्कूल में तीन शिक्षकों ने बच्चों को अनोखी सजा दी जिसमें उन्होंने एक या दो नहीं बल्कि करीब 35 बच्चों के बाल काट दिए। ऐसे बाल काटे कि बच्चों की सिर खून तक निकलने लगा।



यह बात 30 जून की है जब बच्चे रोजाना की तरह सुबह अपने स्कूल गए। प्रार्थना के बाद पिटी टीचर ने एक और स्कूल स्टाफ की मदद से बच्चों के सिर पर उस्तारा चलवा दिया। बात तब सामने बच्चा एक बच्चा अपने घर पहुंचा। बच्चे के सिर से खून निकल रहा था। खूल उस्तरा से बाल काटने की वजह से निकल रहा था।



जब इस घटना के बाद बच्चे स्कूल गए तो देखा कि उनके बच्चे समेत करीब 35 बच्चों के सिर पर उस्तरा चलाया गया है। छात्रों के परिजनों का कहना है कि इस पूरी घटना के लिए कमल वासुदेव वायकुले इंग्लिश मीडियम स्कूल के तीन शिक्षक जिम्मेदार हैं। इन शिक्षकों में मिलिंद झनके, तूषार मामा और स्कूल के संचालक बट्टा हैं। इसकी शिकाय परिजनों ने विक्रोली पुलिस थाने में की है जहां पुलिस ने इनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही दो लोगों को पुलिस हिरासत में लेकर जांच कर रही है।