बरसात में बिगड़ेगी मुंबई की सूरत!

संकेत पाठक, मुंबई(4 मई): हाल ही में बीएमसी के कराए गए एक सर्वे में मुंबईकरों को परेशान करने वाली बात सामने आई है। सर्वे से ये साफ हुआ है कि इस साल मुम्बई में 225 जगहों पर भारी जलभराव हो सकता है जो कि पिछले साल की तुलना में 40 ज्यादा है। वहीं 60 जगह ऐसी हैं जहां बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं। इसके अलावा सड़क, मेट्रो वगैरह के चल रहे कामकाज के चलते लोगों को दोहरी परेशानी झेलनी पड़ सकती है।मुंबई में कहीं सड़क की मरम्मत का काम चल रहा है तो कहीं मेट्रो का कंस्ट्रक्शन हो रहा है। इन सबके बीच अगर बारिश होती है तो जाहिर है जलजमाव से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि मुंबई में मानसून आने में अभी महीने भर से ज्यादा का वक्त है लेकिन विकास के जो काम चल रहे हैं वो तब तक पूरे नहीं हुए तो मुंबईकरों की दिक्कत बढ़ने से इनकार नहीं किया जा सकता। खास बात ये है कि बीएमसी के एक सर्वे में भी ये बात सामने आई है कि इस बार पिछले साल के मुकाबले ज्यादा जगहों पर जलभराव हो सकता है।बीएमसी ने जो 225 जगह चिन्हित की हैं उनमें 17 जगह ऐसी हैं जहां मेट्रो का काम चल रहा है।  पिछले साल जलजमाव वाली 185 जगह चिन्हित की गई थीं... जबकि इस बार 225 यानि 40 ज्यादा जगह। 225 चिन्हित जगहों में से 60 जगहों को डेंजर जोन में रखा गया है... इन जगहों पर बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं।हालांकि बीएमसी के अधिकारी इस मुद्दे पर बात करने से बच रहे हैं। लेकिन जिन जगहों पर बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं... उनमें वेस्टर्न सबर्ब के 12 इलाके... जबकि सेंट्रल और ईस्टर्न सबर्ब के 16 और साउथ मुंबई के 15 इलाके शामिल हैं।  ये वो इलाके हैं जहां हर साल 2 से 4 फ़ीट तक जलभराव होता है। लेकिन बीएमसी इस समस्या से निपट पाने में नाकाम रही है।