'किन्नर' बनकर ठगते थे, सीसीटीवी फुटेज के सबूत से 2 बहुरूपिये गिरफ्तार

नई दिल्ली (10 मई): मुंबई पुलिस ने 2 बहुरूपियों को गिरफ्तार किया है। ये दोनों ही किन्नर के वेश में घर में घुसकर लोगों को ठगा करते थे। दोनों ही ठग गुजरात के जूनागढ़ के रहने वाले हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, इन दोनों को मुंबई महानगर के नालासोपारा से गिरफ्तार किया गया। इन्होंने 4 अप्रैल को यहां के एक परिवार से 2.50 लाख रुपये के जेवर ठग लिए थे। पुलिस ने दोनों को सीसीटीवी में कैद उनकी तस्वीर के आधार पर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आम तौर पर लोग किन्नरों के मुंह नहीं लगते। सोसायटी के चौकीदार भी उनसे उतनी सख्ती से पेश नहीं आते जितना आम आदमी से।

इन दोनों लोगों की इसी कमजोरी का फायदा उठाने के लिए किन्नर के वेश में घूमकर ठगी करते आ रहे थे। इनकी पहचान रमेश नाथ और शंकर रणछोड़ धांधल नाम से हुई है। 4 अप्रैल को दोनों चौकीदारों को गुमराह कर नालासोपारा के वृन्दावन अपार्टमेंट में गए। वहां के एक फ्लैट का दरवाजा खुलवाकर पहले तो पीने का पानी मांगा। फिर उसी पानी में अपनी अंगुली घुमाकर उसे प्रसाद के तौर पर घर में मौजूद सास और बहू को पिलाया। 

पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक पानी पीने के बाद दोनों को पता नहीं क्या हुआ कि उन्होंने अपने बदन और घर में रखे सारे गहने निकालकर दोनों को सौंप दिए। नालासोपारा पुलिस थाने के नि‍रीक्षक प्रकाश विराजदर के मुताबिक जब तक दोनों महिलाओं को लुटने का एहसास हुआ। तब तक दोनों किन्नर जा चुके थे। शिकायत मिलने पर ईमारत की सीसीटीवी में दर्ज तस्वीरों के जरिये पुलिस ने दोनों को खोज निकाला। पर वो खुद भी तब हैरान रह गई जब उसे पता चला कि वो दोनों किन्नर नहीं बल्कि किन्नर के वेश में बहुरूपिये हैं।