PM मोदी के सामने खुद को आग लगाने की धमकी दी, हिरासत में लिया गया

Sanjay Pardeshi has been in the limelight over the encroachment of a one-acre plot in Juhu’s Ritambara College area

नई दिल्ली (15 अप्रैल): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर उनके सामने खुद को लगाने की धमकी देने वाले मुंबई के एक शख्स को हिरासत में लिया गया है। 

'मिड-डे' की रिपोर्ट के मुताबिक, संजय परदेशी नाम के इस शख्स ने पुलिस की रातों की नींद उड़ा रखी थी। 51 वर्षीय संजय ने पीएम के शहर आने पर खुद को आग लगाने की धमकी दी थी। उसने आरोप लगाया कि वह ऐसा इसलिए कर रहा है क्योंकि बीएमसी ने बीजेपी के नेता के निर्देशों पर जुहू में एक प्लॉट के अतिक्रमण को लेकर उसके साथ अन्याय किया है। पीएम के आगमन से कुछ घंटों पहले ही गुरुवार को उसे हिरासत में ले लिया गया। 

पीएम गोरेगांव के बॉम्बे कन्वेंशन एंड एक्जिबिशन सेंटर में मैरीटाइम इंडिया समिट का उद्घाटन करने के लिए आने वाले थे। शहर की पुलिस की स्पेशल ब्रांच को परदेशी के बारे में इनपुट मिले थे। उसके पीएम के सामने खुदकुशी करने की कोशिश करने की संभावना थी। 

जब से मंगलवार को पुलिस को जानकारी मिली, उन्होंने परदेशी की खोजबीन शुरू कर दी। एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी। बताया गया कि परदेशी जुहू के रितंबरा कॉलेज इलाके में एक एकड़ के प्लॉट के अतिक्रमण को लेकर लाइमलाइट में आया था। जहां उसने कथित तौर पर गैरकानूनी झुग्गियां बनाई थीं। 

जुहू पुलिस ने बताया कि पिछले साल महाराष्ट्र रीजन एंड टाउन प्लानिंग (एमआरटीपी) एक्ट के तहत बीएमसी अधिकारियों की शिकायत पर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। 2015 में झुग्गियों को ध्वस्त किए जाने के बाद में यह दर्ज किया गया। एक अधिकारी ने बताया कि परदेशी पर कुछ मामले दर्ज हैं। परदेशी ने वॉट्सएप पर भी एक मैसेज फॉर्वर्ड किया था। जिसमें उसने पीएम के सामने खुद को आग लगाने की बात कही थी। 

परदेशी ने बताया कि उसके खिलाफ सारे मामले गलत और आधारहीन हैं। यह बीजेपी, पुलिस और स्थानीय बीजेपी नेता के बीच गठजोड़ का नतीजा है। परदेशी ने कहा, "मुझे इलाके से निकालने के लिए, बीजेपी नेता, बिल्डर और बीएमसी अधिकारी इस तरह की तरकीबें कर रहे हैं। वे मेरे खिलाफ इसलिए मुकदमे कर रहे हैं, क्योंकि मैं एक दलित हूं। क्यों दलित लोग जुहू की पॉश इलाके में नहीं रह सकते?"