मुंबई लोकल में डंडा मार गैंग का ख़ौफ़

दीपक दुबे, मुंबई (20 अगस्त): मुंबई की लाइफ लाइन में इन दिनों डंडा मार गैंग का ख़ौफ़ काफी बढ़ गया है। इसने जीआरपी की भी नाक में दम कर दिया हैं। डंडा मार गैंग आए दिन लोकल ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को अपना शिकार बनाता है। यह गैंग लोकल ट्रेन में दरवाजे पर खड़े रहने वाले यात्रियों को डंडा मारकर लूट लेता है, ऐसे 80 स्पॉट अब जीआरपी ने इडेन्टीफाई किए है, जहां सबसे ज्यादा वारदातें होती है।

डंडा मार गैंग पलक झपकते ही लोकल ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को निशाना बना कर उन्हें लूट लेता है...

- इतनी भीड़ होती है कि लोगों को मजबूरन दरवाजे पर खड़ा होना पड़ता है। - ये गैंग इसी चीज़ का फायदा उठाती है और पटरियों के आस-पास के पोल पर छुपकर खड़ा रहता है। - जैसे ही ट्रेन में लटके यात्री को फोन पर बात करते हुए देखता है, या हाथों में लटकता बैग देखता है वैसे ही उसके हाथ पर डंडा मार उसका मोबाइल और बैग गिरा देता है। - ट्रेन के गुजर जाने के बाद वहां गिरे हुए मोबाइल और पैसो से भरा बैग को लेकर रफू चक्कर हो जाता है।

डंडा मार गैंग ने किए 20 महीने में 125 शिकार...

- इस गैंग ने पूरी मुंबई की रेलवे पटरियों पर 80 अड्डे बनाए हैं। - ये वो अड्डे हैं, जहां से वो बनाते हैं रेलवे यात्रियों को अपना शिकार। - सीएसटी में इस गैंग के 4 अड्डे हैं। - दादर में 5, कुर्ला में 8, थाने में 4, डोम्बिवली में 3, कल्याण में 4, वडाला में 2, वाशी में 3, पनवेल में 4, चर्चगेट में 2 , मुंबई सेन्ट्रल में 5, बांद्रा में सबसे ज्यादा 13, अँधेरी में 5, बोरीवली में 7, पालघर में 3 अड्डे हैं जहां ये गैंग लोगों को निशाना बनाता है।